Makar Sankranti 2022:

नई दिल्ली. Makar Sankranti 2022:  मकर संक्रांति का पर्व उत्तर भारत समेत पूरे देश में बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है. इसके अलावा यह पर्व (संक्रान्ति) नेपाल में भी मनाया जाता है. पौष मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है तभी इस पर्व को मनाया जाता है. कहते हैं इस दिन से सूर्य की किरणे गर्म होने लगती है और ठण्ड छटने लगती है. इस दिन तिल गुड़ खाने की विशेष मान्यता है, साथ ही दान और गंगा स्नान से भी पुण्य की प्राप्ति होती है.

न करें ये काम

-मकर संक्रांति के दिन भूलकर भी रात का बचा हुआ या बासी खाना नहीं खाना चाहिए, इसे नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है.

-मकर संक्रांति के दिन किसी भी प्रकार के नशे नहीं करने चाहिए. इस दिन सिगरेट, गुटका, शराब आदि के सेवन से बचना चाहिए.

-मकर संक्रांति के दिन मसालेदार खाने से भी बचना चाहिए.

-मकर संक्रांति के दिन आपको अपनी वाणी पर संयम रखना चाहिए, और किसी पर भी गुस्सा करने या गाली गलौंच करने से बचना चाहिए.

-मकर संक्रांति के दिन किसी भी निर्धन या भिखारी को घर से खाली हाथ नहीं भेजना चाहिए.

मकर संक्रांति के दिन तिल, गुड़ और खिचड़ी दान करने की विशेष मान्यता है. मकर संक्रांति के दिन सूर्योदय और सूर्यास्त के समय पूजा-पाठ करना चाहिए, इस दिन खाने में सात्विकता का पालन करना चाहिए.

 

यह भी पढ़ें:

Train Accident Tragedy : बंगाल ट्रेन दुर्घटना में मरने वालों की संख्या 9 हुई, 36 घायलों में कई की हालत गंभीर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर