नई दिल्ली : मकर संक्रांति 2021 कल यानी 14 जनवरी को मनाई जाएगी. मकर संक्रांति इस बार बेहद शुभ मानी जा रही है. इस दिन 5 ग्रह एक ही राशि यानी मकर में रहेंगे. वैसे तो सूर्य हर माह में राशि का परिवर्तन करता है, इसलिए कुल मिलाकर साल में बारह संक्रांतियां होती हैं, लेकिन दो संक्रांतियां सर्वाधिक महत्वपूर्ण होती हैं. एक मकर संक्रांति और दूसरी कर्क संक्रांति. इस दिन भगवान सूर्य की अराधना की जाती है और उनका जाप किया जाता है. लेकिन इस बार विशेष संयोग के तहत सूर्य, शनि, बुध, गुरु और चंद्रमा मकर राशि में रहने वाले है. जिसके चलते इस बार भगवान सूर्य के साथ-साथ शनि की भू पूजा की जाएगी.

मकर संक्रांति पर सूर्य- शनि सबंध

ज्योतिष के अनुसार, मकर संक्रांति 2021 में सूर्य और शनि का विशेष सम्बन्ध बाताया जा रहा है. मान्यता है कि इस दिन सूर्य अपने पुत्र शनि से मिलने के लिए आते हैं. अगर कुंडली में सूर्य या शनि की स्थिति ख़राब है तो आज के दिन भगवान सूर्य और शनि को प्रसन्न करके उनका आशीर्वाद पाया जा सकता है. साथ ही मकर संक्रांति के दिन अन्न,कम्बल और घी का दान करें. भोजन में खिचड़ी बनाएं और भगवान को भोग लगा कर दान करें.

सूर्य- शानि को करें प्रसन्न

मकर संक्रांति के दिन भगवान सूर्य को प्रसन्न करने के लिए लाल फूल और अक्षत डाल कर सूर्य को अर्घ्य दें. सूर्य के बीज मंत्र का जाप करें. मंत्र होगा- “ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः”, लाल वस्त्र, ताम्बे के बर्तन तथा गेंहू का दान करें. संध्या काल में अन्न का सेवन न करें. वहीं शनि को प्रसन्न करने के लिए तिल और अक्षत डाल कर सूर्य को अर्घ्य दें. शनि देव के मंत्र का जाप करें. मंत्र होगा- “ॐ प्रां प्री प्रौं सः शनैश्चराय नमः”. घी, काला कम्बल और लोहे का दान करें.

Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति पर करें खिचड़ी का दान, घर में होगा सुख, समृद्धि का वास

Masik Shivratri 2021: आज साल की पहली मासिक शिवरात्रि पर बना विशेष योग, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर