नई दिल्ली. नया साल शुरू होते ही सबसे पहले जो त्योहार आता है वो है मकर संक्रांति. इस साल 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी. हिंदू धर्म में इस त्योहार का काफी महत्व है. माना जाता है कि इस दिन सूर्य भगवान मकर राशि में प्रवेश करते हैं. इसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है. ऐसे में मकर संक्रांति मनाने के कुछ नियम दिए गए हैं, इनका पालन सही से करेंगे तो जीवन के सभी कष्ट दूर हो जाएंगे. जानिए कि मकर संक्रांति पर क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए.

Makar Sankranti 2020 Ke Niyam: मकर संक्रांति पर क्या करें-
– मकर संक्रांति के दिन गंगा स्नान का बहुत महत्व है. दूर-दूर से लोग इस दिन गंगा नदी में स्नान करने पहुंचते हैं. गंगा के अलावा अन्य पवित्र नदियों में भी स्नान किया जाता है. यदि आप नदी में स्नान नहीं कर सकते तो अपने घर में ही पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान कर लें.
– स्नान करने के बाद सूर्य भगवान को जल चढ़ाएं. मकर संक्रांति के दिन सूर्य देवता की पूजा करने से जीवन में खुशियां आती हैं.
– संक्रांति पर भगवान शिव, विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा भी करें.
– मकर संक्रांति के दिन दान का विशेष महत्व है. गरीबों को अन्न, कपड़ें आदि दान करें. गाय को चारा खिलाएं और सेवा करें. पौधे लगाएं.
– घर में नया झाड़ू खरीद कर लाएं, इससे मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी.
– अपने बड़ों का आशीर्वाद लें, उनका आदर-सम्मान करें.
– संक्रांति के दिन अपनी तिजोरी में रखे जेवरातों को निकालें और उन्हें गंगाजल से धोएं. इसके बाद उनपर हल्दी लगाकर पहनें.
– घर में तिल और खिचड़ी बनाएं और ब्राह्मण भोज के बाद निर्धनों को दान करें. अपने परिवार के साथ बैठकर खुद भी खाएं.

Makar Sankranti Ke Niyam: मकर संक्रांति पर क्या न करें-
– मकर संक्रांति के दिन आपको तन के साथ-साथ मन भी साफ रखना चाहिए. इस दिन जिनसे भी मिलें, उनसे आदर और प्रेम से बात करें. किसी का दिल न दुखाएं.
– मकर संक्रांति के दिन पेड़-पौधों को नुकसान न पहुंचाएं. हो सके तो हरी सब्जियां, फल वगैरह का सेवन भी न करें. फूल, पत्ती आदि न तोड़ें. तुलसी को नुकसान भी न पहुंचाएं.
– मकर संक्रांति के त्योहार पर घर में बड़ों का अनादर न करें. भगवान सूर्य और शनि देव आपसे रूठ सकते हैं.
– मकर संक्रांति के दिन काले रंग के कपड़ों से परहेज करें. काला वस्त्र धारण न करें.
– मकर संक्रांति के दिन तामसिक भोजन से परहेज करना चाहिए. आलू, लहसून, प्याज आदि जमीकंद समेत मांसाहार भोजन का सेवन न करें.
– मकर संक्रांति के दिन शराब का सेवन करना वर्जित है, भूलकर भी मद्यपान न करें.
– किसी भी गरीब अथवा पशु को दान करते समय दुर्भावना मन में न लाएं. पुराना अथवा बासी भोजन दान न करें.

ये भी पढ़ें-

सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर करने पर 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है, आइए जानते हैं

मकर राशि में शनि के गोचर का इन राशियों पर पड़ेगा गहरा असर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App