नई दिल्ली : हिंदु धर्म में साल के हर महीने की अपनी एक विशेषता बताई गई है. जिसके चलते हर महीने में खाने वाली चीजों में भी बदलाव करना पड़ता है. ज्योतिष और आयुर्वेद दोनों ने ही इस बात को माना है कि खानपान का ग्रहों और सेहत पर अच्छा, बूरा प्रभाव पड़ता है. इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस महीने में क्या न खाएं और क्या खाएं.

माघ में करें मूली का परहेज

अभी हाल ही में माघ माह की शुरुआत हुई हैं. इसलिए सबसे पहले यह जान लें कि माघ में मूली का सेवन नहीं करना है. साथ ही इस महीने में धनिया खाने से भी बचना चहिए. लेकिन इस माह में खिचड़ी और घी खाना काफी अच्छा माना जाता है.

चैत्र में न खाएं गुड़

चैत्र का महीना अंग्रेजी माह के अनुसार मार्च-अप्रैल के बीच आता है. यह महिना हिंदू धर्म का पहला महीना होता है, जिसमें नवरात्रि शुरु होती है. इस महीने में गुड़ खाना वर्जित है.

वैशाख में करें इस चीज से परहेज

यह माह अप्रैल-मई के बीच आता है, इसे वैशाख का महीना बोला जाता है. मान्याता है कि इस महीने में नया तेल नहीं लगाना चहिए साथ ही इस महीने में तेल व तली भुनी चीजों से परहेज करना चहिए.

ज्येष्ठ में न बेल खाना होता है शुभ

अंग्रेजी माह के अनुसार, जेयष्ठ का महीना मई-जून के बीच आता है. यह महीना गर्मी का होता है. इसलिए इस महीने में दोपहर में घूमना स्वास्थय के लिए हानिकारक होता है. वहीं इस महीने में बेल खाना शुभ बताया जाता है.

आषाढ़ में करे हरी सब्जियों का सेवन

आषाढ़ का महीना अंग्रेजी माह का जून-जुलाई का महीना होता है. इस महीने में हरी सब्जियां खाने से अपकी सेहत पर अच्छा प्रभाव पड़ता है. आषाढ़ माह में पका बेल खाना मना है.

कार्तिक माह में न खाएं बैंगन

यह माह अक्टूबर और नंवबर के बीच में आता है. इस महीने में बैंगन खाने से बचना चहिए साथ ही दही का सेवन भी वर्जित बताया गया है.

पौष में इसे पीना मानते हैं शुभ

यह माह अंग्रेजी माह के अनुसार दिसंबर-जनवरी के बीच आता है. इस महीने में दूध पी सकते हैं लेकिन धनिया नहीं खाना चाहिए.

Magh Maas 2021 : माघ के महीने में करें यह पुण्यकारी काम, भागवन कृष्ण होंगे प्रसन्न, बनेंगे सभी काम

Paush Amavasya 2021 Date: इस दिन पड़ रही है पौष अमावस्या, जानें पूजा महत्व और शुभ मुहूर्त

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर