नई दिल्ली. मंगलवार को हनुमान जी की पूजा-अराधना की जाती है. हनुमान जी के कई प्रसंग बड़े ही प्रसिद्ध हैं. हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के बीच हनुमान जी की पत्नी के बारे में बहुत कम चर्चा की गई है. हनुमान जी से सुर्वचला की शादी की कहानी काफी ज्यादा दिलचस्प है. मान्यता है कि भगवान हनुमान गृहस्थी बसाने के लिए सुर्वचला से विवाह नहीं किया था, बल्कि वे सूर्य देव भी सभी ज्ञान लेना चाहते थे लेकिन वह ज्ञान सिर्फ विवाहित व्यक्ति को ही प्रदान किया जा सकता है.

सूर्यदेव की पुत्री सुर्वचला परम तपस्विनी थीं और उन्होंने जीवन में कभी भी विवाह न करने का फैसला किया था. हालांकि सूर्यदेव चाहते थे कि उनकी पुत्री जीवनभर कुंवारी रहे. इस स्थिति को देखते हुए एक रास्ता निकाला गया. वहीं हनुमान जी को पूर्ण शिक्षा हालिस करने के लिए विवाह की जरूरत थी, इसलिए हनुमान जी ने सुर्वचला से शादी की. और इसी तरह सूर्यदेव की अपनी पुत्री के विवाह की इच्छा भी पूर्ण हो गई.

माना जाता है कि हनुमान जी और सुर्वचला ने कभी भी दाम्पत्य जीवन नहीं व्यतीत किया. ये दोनों सिर्फ एक-दूसरे की सहायता के लिए शादी में सहभागी बने थे. जब बजरंगबली ने अपनी शिक्षा पूरी कर ली तो उसके बाद सुर्वचला फिर से तपस्या में लीन हो गईं. इस तरह से हनुमान जी की पत्नी कही जानें वालीं सुर्वचला को तपस्विनी के रूप में स्मरण किया जाता है. सूर्यदेव की पुत्री सुर्वचला ने हमेशा भगवान हनुमान के ब्रम्हचर्य का सम्मान किया और ज्ञान प्राप्ति में उनकी सहायता की.

Shani Dosh Tips On Saturday: शनि दोष से छुड़ाना चाहते हैं पीछा तो शनिवार को अपनाएं ये अचूक उपाय

How to Debt Free: सिर पर चढ़ा है लाखों का कर्ज तो करें ये असरदार उपाय, आपके दिन बदल जाएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App