नई दिल्ली. Krishna Janmashtami 2018: कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार हमारे देश में बहुत ही धूम- धाम से मनाया जाता है. और अब जब ये त्यौहार करीब आ चुका है. ऐसे में लोगो ने त्यौहार के लिए तैयारियां जोरो- शोरों से शुरू कर दी हैं. लेकिन तैयारियों के बावजूद लोगों के मन में इस बाद को लेकर संशय बना हुआ है कि कृष्ण जन्माष्टमी आखिर किस तारिख को मनाई जाए तो मनाई जाए. कुछ लोगों के अनुसार जन्माष्टमी 2 सितंबर को है तो कुछ लोगों के अनुसार 3 सितंबर को जन्माष्टमी है.

हिनदू पंचांग कि माने तो भादो मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को रोहिणी नक्षत्र में अर्धरात्रि को कृष्ण भगवान का जन्म हुआ था. जिसके चलते कृष्ण जन्माष्टमी को इसी तिथि पर और इसी नक्षत्र पर हर साल मनाई जाती है. बता दें रात्रि 8: 47 बजे से शुरू होकर अगले दिन 3 सितंबर को रात्रि 8:04 बजे भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी समाप्त हो जाएगी. स्मार्त कृष्ण जन्माष्टमी 2 सितंबर को मनाएंगे तो वहीं वैष्णवों कृष्ण जन्मोत्सव का त्योहार 3 सितंबर को मनाएंगे.

श्रीकृष्ण जन्‍माष्‍टमी 2018 की तिथि और शुभ मुहूर्त
इस बार अष्टमी 2 सितंबर रात 08:47 पर लगेगी और 3 सितंबर की शाम 07:20 पर खत्म हो जाएगी.
अष्‍टमी तिथि प्रारंभ: 2 सितंबर 2018 रात 08.47
अष्‍टमी तिथि समाप्‍त: 3 सितंबर 2018 शाम 07.20

रोहिणी नक्षत्र प्रारंभ: 2 सितंबर 2018 रात 8 बजकर 48 मिनट.
रोहिणी नक्षत्र समाप्‍त: 3 सितंबर 2018 रात 8 बजकर 5 मिनट.

निशीथ काल पूजन समय: 2 सितंबर 2018 को रात 11 बजकर 57 मिनट से रात 12.48 मिनट तक.
श्रीकृष्ण जन्‍माष्‍टमी 2018 व्रत का पारण: 3 सितंबर की रात 8 बजकर 05 मिनट के बाद.

Krishna Janmashtami 2018: जन्माष्टमी व्रत से पहले इन बातों का रखें ध्यान, जानें क्या खाना है क्या नहीं

Krishna Janmashtami 2018: 2 सितंबर को है श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, ये है पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App