नई दिल्ली. Krishna Janmashtami 2018: श्रीकृष्ण की जयंती को जन्माष्टमी 2018 त्योहार के रूप में मनाते हैं. इस बार जन्माष्टमी 3 सितंबर को है. इस दिन श्रद्धालु भगवान श्रीकृष्ण की पूजा व व्रत करते हैं. इस व्रत को काफी कठिन व्रतों में से एक माना जाता है. इस व्रत में दिन के समय कुछ नहीं खाते, साथ ही सामान्य व्रत की तरह शाम को पूजा करने के बाद इस व्रत को नहीं खोलते. जन्माष्टमी व्रत को श्रीकृष्ण के जन्म के बाद भोग लगाकर खोला जाता है.

जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण का जन्म हुआ. इस दिन रात 12 बजे सांकेतिक रूप से श्रीकृष्ण का जन्म होता है, श्रद्धालु धनिए से बने खास प्रसाद से श्री कृष्ण को भोग लगाते हैं. इस दौरान मंदिरों में लंबी कतार में श्रद्धालु श्रीकृष्ण के दर्शन के लिए खड़े रहते हैं. इसके बाद ही इस व्रत खोलते हैं. कई मायनों में यह व्रत साधारण व्रतों की तुलना में कठिन होता है. इसीलिए जन्माष्टमी व्रत करने से पहले इन खास बातों का ध्यान रखें.

Krishna Janmashtami 2018: जानें क्या खाना है क्या नहीं
1) व्रत से एक दिन पहले पौष्टिक आहार खाएं.
2) ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं.
3) ताजा फल खाएं.
4) व्रत खोलते समय सबसे पहले सूखे धनिया का बना प्रसाद खाएं.
5)व्रत से पहले फास्ट फूड न खाएं.
6) तला व बाहर के खाने से बचें.

Janmashtami 2018: इस तारीख को है जन्माष्टमी, ये है पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

बनारस घाट पर 150 पत्नी पीड़ित पुरुषों ने की पिशाचिनी मुक्ति पूजा, किया जिंदा बीवियों का पिंडदान

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App