नई दिल्ली. चारधाम के पवित्र मंदिर हर साल अप्रैल-मई में गर्मियों के आगमन के साथ खुलते हैं और अक्टूबर-नवंबर में सर्दियों के महीनों की शुरुआत के साथ बंद हो जाते हैं। चार धाम मंदिर, केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री, अप्रैल-मई से अक्टूबर-नवंबर तक तीर्थयात्रियों के लिए खुले रहते हैं। सभी मंदिर सर्दियों में बंद हो जाते हैं और उनके शीतकालीन निवास पर पूजा की जाती है।

अप्रैल-मई के महीने में हर साल तीर्थयात्रियों के दर्शन करने के लिए चारधाम मंदिर अपने द्वार खुलते हैं। हिन्दू पंचांग कैलेंडर के माध्यम से गणना के बाद उल्लेखनीय पुजारियों द्वारा तारीख तय की जाती हैं।

केदारनाथ मंदिर के कपाट 17 मई 2021 को खुलेंगे और भाई दूज के शुभ दिन यानी 06 नवंबर 2021 को बंद हो जाएंगे। हर साल केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि महाशिवरात्रि के दिन घोषित और तय की जाती है। केदारनाथ मंदिर के समापन की तारीख तय हो गई है यानी भाई दूज पर, केदारनाथ मंदिर के द्वार सर्दियों के लिए बंद हो जाते हैं।

बद्रीनाथ तीर्थयात्रियों के लिए 18 मई 2021 को सुबह 4:15 बजे खुलेगा और 10 नवंबर 2021 को बंद हो जाएगा। बद्रीनाथ मंदिर की उद्घाटन तिथि बसंत पंचमी पर तय की गई है और विजयदशमी पर समापन तिथियां घोषित की जाएंगी।

यमुनोत्री धाम 14 मई 2021 को तीर्थयात्रियों के लिए खुलेगा। यमुनोत्री मंदिर प्रत्येक वर्ष अक्षय तृतीया के अवसर पर अपने द्वार खोलता है। यमुनोत्री तीर्थयात्रियों ने भाई दूज के दिन यानी 06 नवंबर 2021 को तीर्थयात्रियों के लिए अपने द्वार बंद कर दिए।

गंगोत्री मंदिर 14 मई 2021 को खुलेगा और दिवाली के अगले दिन यानी 05 नवंबर 2021 को बंद होगा। गंगोत्री धाम प्रत्येक वर्ष अक्षय तृतीया के शुभ अवसर पर खुलता है और दिवाली त्योहार, नव 2021 के बाद के दिन बंद हो जाता है।

Maha Shivaratri 2021: मेरा भोला है भंडारी भजन गाने वाले हंसराज रघुवंशी के टॉप 6 शिव भजन

Maha Shivaratri 2021: भोले बाबा के ये 10 भजन जो शिवरात्रि 2021 पर मचा रहे हैं धूम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर