नई दिल्ली. केदारनाथ धाम के कपाट आज सुबह पांच खोल दिए गए। केदारनाथ धाम में कपाट खुलने से पहले ही पूरी तैयारियां कर ली गई थी। पूरे मंदिर को 11 कुंतल फूलों से सजाया गया है।

केदारनाथ धाम में भी प्रथम रुद्राभ‍िषेक पूजा पीएम नरेन्द्र मोदी की ओर से की गयी। कोरोना के मद्देनजर बाबा केदार की डोली को रथ के जरिए गौरीकुंड तक ले जाया गया. डोली के  साथ देव स्थानम बोर्ड के कुछ कर्मचारी, वेदपाठी और पुजारी मौजूद थे. कोरोना संकट के चलते इस बार केदारनाथ धाम की यात्रा  सीमित कर दी गई है।

वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए लिखा, ”विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ धाम के कपाट आज सोमवार को प्रातः 5 बजे विधि-विधान से पूजा-अर्चना और अनुष्ठान के बाद खोल दिए गए. मेष लग्न के शुभ संयोग पर मंदिर का कपाटोद्घाटन किया गया. मैं बाबा केदारनाथ से सभी को निरोगी रखने की प्रार्थना करता हूं.”

नहीं आ सकेंगे श्रद्धालु

महामारी के प्रकोप के चलते फिलहाल किसी भी तीर्थयात्रियों और स्थानीय भक्तों को केदारनाथ जाने की अनुमति नहीं दी गई है। कपाट खुलने पर देवस्थानमं बोर्ड की सीमित टीम ही पूजा पाठ करेगी। वहीं लोग सिर्फ ऑनलाइन दर्शन ही कर सकते है। 

मालूम हो कि पिछले कई दिनों से उत्तराखंड में कोरोना वायरस के रोजाना 5,000 से 9,000 मामले आ रहे हैं।

Corona Vaccination : मेक इन इंडिया और स्वदेशी वैक्सीन के नाम पर मोटी कमाई कर रहा सीरम इंस्टीट्यूट, कोविड शील्ड की लागत और कीमत जानकर रह जाएंगे दंग

Narada sting operation :ममता बनर्जी के तीन विधायकों को सीबीआई ने किया गिरफ्तार, बौखलाई ममता खुद की गिरफ्तारी देने पहुंचीं सीबीआई दफ्तर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर