नई दिल्ली. करवा चौथ 2018 इस बार 28 अक्टूबर का है. कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को पड़ने वाले उपवास को ही करवा चौथ का व्रत कहते हैं जो महिलाओं के लिए कई मायनों में खास होता है. मान्यता है कि इस व्रत के जरिए महिलाएं पति की लंबी आयु की प्रार्थना करती हैं. करवा चौथ पर महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं व दिन में कथा पढ़ रात को चांद को अर्घ्य देकर ही अपना व्रत खोलती हैं. बदलते दौर में पुरुष भी करवा चौथ का व्रत करते हैं और पत्नी के लिए पूजा पाठ करते हैं.

Karva Chauth 2018: हिंदू ज्योतिष के अनुसार करवा चौथ की रात किया गया एक उपाय ऐसा है जिससे शिव शक्ति सुहागिन महिलाओं को अंखड सौभाग्य का आशीर्वाद देते हैं. भगवान शिव की कृपा से महिला को सदा सुहागिन रहने का वरदान मिलता है. इस बार ये पर्व 28 अक्टूबर को मनाया जाएगा. पति की लंबी आयु के लिए सूर्योदय से पहले इस व्रत की शुरुआत 4 बजे से हो जाता है. जिसका समापन चंद्रमा को अर्घ्य देकर होता है.

Karva Chauth 2018: ये है वो खास उपाय
इस करवा चौथ खास उपाय अवश्य करें. जैसा कि हर बार व्रत खोलने से पहले चंद्रमा को अर्घ्य देते हैं दीपक जलाएं और अगरबत्ती रखें. उस दौरान पूजा के समय भगवान महादेव के शीश पर विराजे चंद्र से कामना करें. इस कार्य को करने के बाद आपको अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद मिलता है.

Karva Chauth 2018: करवा चौथ 2018 का पूजा मुहूर्त 28 अक्टूबर
करवा चौथ पूजा मुहूर्त- शाम को 5.36 बजे से 6.54 बजे तक.
चंद्रोदय- रात 8 बजे से.

Karwa Chauth 2018: करवा चौथ पर इन रंगों से बचें, भूल कर भी न करें ये काम

Karva Chauth 2018: अभी से शुरू कर दें करवा चौथ की तैयारियां, इन टिप्स को फॉलो कर दिखें सबसे खूबसूरत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App