नई दिल्ली. Kartik Purnima 2019 Ganga Snan: इस साल 12 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा मनाई जाएगी. कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही हिंदू मान्यताओं का सबसे पवित्र महीने कार्तिक मास की समाप्ति होगी. कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान और दीपदान का बहुत महत्व है. देशभर से श्रद्धालु गंगा घाटों पर स्नान और दीपदान करने पहुंचते हैं. इस दिन गंगा किनारे के तीर्थों पर खासी भीड़ रहती है. आइए जानते हैं कि कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान और दीपदान का इतना महत्व क्यों है और इससे व्यक्ति के जीवन में क्या लाभ होता है.

कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान का महत्व-
कार्तिक मास की पूर्णिमा यानी कार्तिक पूनम के दिन गंगा स्नान करने से साल भर किए गए सभी बुरे कर्मों से मुक्ति मिलती है. मन से बुरी भावनाओं का विनाश होता है और अच्छे विचारों का वास होता है.

माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से सालभर के गंगा स्नान का फल मिलता है. इस दिन सिर्फ गंगा ही नहीं बल्कि अलग-अलग क्षेत्रों में पवित्र मानी जाने वालीं और पूजी जाने वालीं नदियों और सरोवरों में भी श्रद्धालु स्नान कर पूण्य अर्जित करते हैं.

कार्तिक पूर्णिमा के दिन दीप दान का महत्व-
कार्तिक पूर्णिमा पर सिर्फ गंगा स्नान ही नहीं बल्कि दीपदान का भी खासा महत्व है. इस दिन दीप दान करने से पूर्वजों की आत्मा को मुक्ति मिलती है. देशभर से श्रद्धालु काशी में दीपदान करने के लिए इकट्ठा होते हैं. इसके अलावा अन्य प्रमुख तीर्थ स्थानों पर भी दीप दान किया जाता है.

कार्तिक पूर्णिमा को देव दीपावली के नाम से भी जाना जाता है. क्योंकि इस दिन देवता दीये जलाते हैं. आम लोगों के लिए दीवाली कार्तिक अमावस्या को मनाई जाती है मगर देवताओं के लिए यह पर्व कार्तिक पूर्णिमा के दिन आता है. 

वैसे तो पूरे कार्तिक मास में गंगा स्नान का खास महत्व है. क्योंकि कार्तिक महीना हिंदू धर्म में काफी पवित्र माना जाता है. कार्तिक मास में ही धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा, करवा चौथ, भाईदूज, देवउठनी एकादशी जैसे प्रमुख पर्व-त्योहार आते हैं. इस पूरे महीने गंगा स्नान करने से पूरे जीवन भर की तमस दूर हो जाती है.

Also Read ये भी पढ़ें-

कार्तिक पूर्णिमा के दिन करें भगवान शिव शंकर की पूजा, जानिए कार्तिक पूर्णिमा के दिन क्या करें और क्या नहीं

Dev Deepwali 2019 : देव दीपावली के दिन अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए जलाएं दीये, जानिए किस भगवान के आगे दीपक जलाना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App