नई दिल्ली. हिन्दू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा व्रत का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है, इस बार कार्तिक पूर्णिमा व्रत 12 नवंबर को पड़ा है. ये व्रत इस बार छठ व्रत के 9 वें दिन पड़ा है. कार्तिक पूर्णिमा के दिन सुबह स्नान आदि करके दान करते हैं। इस दिन दान-पुण्य का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है। इतना ही नहीं बल्कि इस दान पुण्य का महत्व तब सबसे ज्यादा माना जाता है जब कार्तिक पूर्णिमा कृतिका नक्षत्र से युक्त होता है। कृतिका नक्षत्र से युक्त कार्तिक पूर्णिमा को महाकार्तिकी भी कहा जाता है.

कार्तिक पूर्णिमा के दिन व्रत करने वाले भक्त ब्रह्म मुहूर्त में उठते हैं, सबसे पहले अपने सभी कामों को निपटाकर गंगा स्नान के लिए जाते हैं, अगर गंगा स्नान के लिए जाना संभव नहीं होता है तो घर पर ही स्नान आदि करते हैं, स्नान आदि करने के बाद भक्त भगवान विष्णु और भगवान शिव की आराधना करते हैं। इस दिन लोगों को हाथ में कुश लेकर दान देते हुए संकल्प करना चाहिए .

तभी इस व्रत का पूरी तरह से लाभ मिलता है, इस दिन वैसे तो व्रत रखना चाहिए और अगर पुरे दिन भूखा रह पाना संभव नहीं होता है तो एक समय खाना खा कर भी आप व्रत रख सकते हैं। इसके बाद सूक्त और लक्ष्मी स्रोत का पाठ करना चाहिए। इससे महालक्ष्मी प्रसन्न होती है। स्नान, दान, दीपदान और हवन का कार्तिक पूर्णिमा का बहुत ही महत्व होता है, सबसे ज्यादा इस दिन पुष्कर में स्नान का महत्व माना जाता है.

ऐसा माना जाता है की इस दिन अगर आप किसी तीर्थ स्थल पर स्नान कर लेते हैं, तो उन्हे पूरे वर्षभर तीर्थस्थल पर स्नान करने का फल मिल जाता है. इतना ही नहीं ऐसा माना जाता है की इस दिन जो भी दान किया जाता है, उसका कई गुणा लाभ मिल जाता है. आपको बता दें कि कार्तिक मास की जो पूर्णिमा होती है वो मनुष्य के अंदर छुपी बुराई को, नेगेटिविटी को, अहंकार, काम, क्रोध, लोभ और मोह को दूर करने में सबसे ज्यादा सहयोगी होता है, और जीवन में पाजिटिविटी, प्रसन्नता और पवित्रता का संचार करती है.

https://www.youtube.com/watch?v=Ne7AazHqC7I

Ahoi Ashtami 2019 Date Calendar: 21 अक्टूबर को मनाई जाएगी अहोई अष्टमी, यहां पढ़ें पूजा विधि और व्रत कथा

Lord Ganesh Wednesday Puja Vidhi: बुधवार को गणेश जी की इस विधि से करें पूजा, घर में आएगी बरकत, दूर होंगे संकट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App