नई दिल्ली.  Jyeshtha Purnima 2019: ज्येष्ठ महीने में आने वाली पूर्णिमा का हिंदू रीति-रिवाजों में खास महत्व है. इस साल ज्येष्ठ पूर्णिमा का पर्व 16 जून को आ रहा है. माना जाता है कि ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन से जून महीने में पड़ने वाली प्रचंड गर्मी का आखिरी दौर होता है. इसे वट पूर्णिमा भी कहा जाता है. कई इलाकों में नदी, तालाब, झीलें सूख जाती हैं. इस शुभ दिन बारिश के लिए पूजा और हवन कर इंद्र देव को प्रसन्न करते हैं. कुछ लोग ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन जल का दान भी किया जाता है और किसानों के लिए अच्छी बारिश की कामना की जाती है. इसके साथ ही सुहागन स्त्रियां अपने पति की लंबी उम्र के लिए ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन व्रत उपवास भी करती हैं.

Jyeshtha Purnima 2019 Puja Vidhi: ज्येष्ठ पूर्णिमा पूजा विधि-
-ज्येष्ठ पूर्णिमा को वट पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. इसलिए इस दिन वट सावित्री व्रत की तरह ही पूजा की जाती है और स्त्रियां अपने सुहाग के लिए व्रत उपवास भी रखती हैं.
– ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन स्नान करें और सजधजकर तैयार हो जाएं.
– फूल माला, अगरबत्ती, दीपक, सिंदूर, चावल, अनाज समेत अन्य पूजन सामग्री को एक थाली में रख लें और लाल कपड़े से ढंक लें.
– वट वृक्ष के नीचे जाएं और देवी मां की पूजा करें.
– अपने सुहाग की लंबी उम्र की कामना करहते हुए देवी मां की कथा पढ़ें.
– ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन पूजा कर व्रत की कामना करें.
– घर आकर अपने पति और बुजुर्गों का आशीर्वाद लें.
– सभी को मिठाई, फल या गुड़ प्रसाद के रूप में बांटें.

Jyeshtha Purnima 2019 Date, Time, Shubh Muhurt: ज्येष्ठ पूर्णिमा 2019 तारीख, शुभ मुहूर्त-

ज्येष्ठ पूर्णिमा हर साल हिंदू मास के ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है. इस साल ज्येष्ठ पूर्णिमा का त्योहार 16 जून को आ रहा है. पंचांग के अनुसार 16 जून को दोपहर 2 बजे तक चतुर्दशी की तिथि रहेगी इसके बाद पूर्णिमा की तिथि शुरू होगी. संध्या काल से लेकर रात 8 बजकर 25 मिनट तक शुभ मुहूर्त रहेगा, इस समय में आप देवी मां की आराधना करें तो अवश्य लाभ होगा. वहीं महिलाएं 17 जून को सुबह भी व्रत रखकर भी वट वृक्ष की पूजा कर सकती हैं. 17 जून दोपहर तक पूर्णिमा की तिथि रहेगी. 

Guru Purnima 2019 Mantra: 16 जुलाई को मनाया जाएगा गुरु पूर्णिमा पर्व, जानिए मंत्र और महत्व

Nirjala Ekadashi 2019 Vrat: निर्जला एकादशी का व्रत आज, जानें शुभ मुहूर्त पूजा-विधि कथा समेत सारी जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App