नई दिल्ली. कई बार व्यक्ति को किसी से कर्ज लेना पड़ता है, जिसके बाद से ही उसे वापस चुकाने की चिंता बढ़ जाती है. कारोबारियों और दुकान चला रहे सेठों को रोजमर्रा पैसों के लेन-देन की आदत होती है लेकिन जब कोई सामान्य व्यक्ति कर्ज के फेर में फंस जाता है तो सालों तक उसे मुक्ति नहीं मिल पाती. कई बार व्यक्ति लड़की की शादी, बिमारी के लिए कर्जा लेता है लेकिन समय से नहीं लौटा पाता जिस वजह से समाज में बेइज्जत भी होना पड़ जाता है. हिंदू धर्म में कुछ उपायों के बारे में बताया गया है जिन्हें अपनाने से सिर पर चढ़े कर्ज से मुक्ति मिलती है, साथ ही घर का धन डूबने से बच जाता है.

कर्जा मुक्ति के प्रभावशाली टोटके और कार्य

1. घर, दुकान या कार्यालय में गाय के आगे खड़े होकर वंशी बजाते हुए भगवान कृष्ण का चित्र रखने पर कर्जा नहीं चढ़ता और धन डूबने की संभावना भी कम ही रहती है.

2. शिव भगवान पर नित्य प्रात: जल चढ़ाने, प्रत्येक सोमवार को दीपक जलाने और प्रदोष व्रत करने से ऋण जल्द मुक्ति मिलती है.

3. अगर ग्रह खराब होने के कारण आर्थिक तंगी है और कर्ज नहीं चुका पा रहे तो उस ग्रह की शांति के लिए भी प्रयास अवश्य करें.

व्यापारिक शीघ्र कर्ज उतारने के यंत्र

उद्योग व्यापार में जितना पैसा अपना लगा होता है, उससे अधिक धन बाहर बाहर वालों का प्रयोग होता है. फेर में चलने वाले दूसरों के इस धन को तो व्यापार में कर्ज नहीं माना जाता, लेकिन आप मशीनें खरीदते, दुकान या फैक्ट्री की जगह लेने और उद्योग- व्यापार चलाने के लिए सरकारी संस्थानों, बैंकों और अन्य व्यक्तियों से जो धन उधार लेते हैं वह तो कर्ज ही है.

नीचे चार यंत्र दिए जा रहे हैं, इनमें से कोई भी एक यंत्र कागज पर केसर के घोल से लकड़ी की कलम से लिख लें. फिर उसकी पूजा करने के बाद यंत्र को दुकान, कार्यालय अथवा घर की चौखट के ऊपरी दाये कोने में चिपका दें. सबसे अच्छा तो रहेगा की चांदी के पतरे पर किसी सुनार से यंत्र को खुदवा लिया जाए और फिर कर्ज चुक जाने के बाद इस यंत्र को किसी विद्वान ब्राह्मण को दान कर दें.

How to Debt Free
असरदार यंत्र

Hanuman Chalisa Earth to Sun Distance: हनुमान चालीसा के इन 5 शब्दों में तुलसीदास ने बता दी थी धरती से सूर्य की दूरी

Holi Totke For Business Success: होली पर अगर कर लिया ये टोटका, अगले दिन से आसमान छुएगा कारोबार, बरसेगा पैसा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App