यदि घर का कोई सदस्य रोगी है। रोग पीछा ही नहीं छोड़ रहा है या आपको ऐसा लगता है कि किसी ने कुछ किया है या कोई ऊपरी बाधा है। शारीरिक, मानसिक व्याधि, किसी प्रकार की सफलता में रुकावट, आर्थिक कष्ट, अला-बला एवं सभी बाधाओं का नाश करने के लिए एक सरल एवं प्रभावकारी उपाय है।

आओ जानते हैं कि क्या है वह उपाय।

  1. सबसे पहले तो एक नारियल लेकर आएं। नारियल पानीदार होना चाहिए। उस नारियल को होलिका दहन के दिन रोगी या पीड़ित व्यक्ति के ऊपर से 7 या 21 बार घड़ी की सुई की दिशा में उतारें या वारें।
  2. अब अब अपने अभीष्ट देवता का ध्यान करके अपनी समस्या को उन्हें बताकर उस नारियल को होली का अग्नि में डाल दें।
  3. नारिलय डालने के बाद होलिका की 7 परिक्रमा करें और पुन: ईष्टदेव से प्रार्थना करें एवं परिवार के लिए स्वास्थ्य, यश, दीघार्यु, धन, लाभ आदि की कामना करके हाथ जोड़कर प्रणाम करें तथा घर आकर अपने ईष्टदेव को प्रणाम करें तथा घर के सभी बड़े- बुजुर्गों से आशीर्वाद लें।

सावधानी : इस प्रयोग को करते समय शुद्धता, पवित्रता, गोपनीयता का विशेष ध्यान रखें। इस प्रयोग के कर्ता को उस दिन किसी प्रकार का नशा या मांसाहार का प्रयोग नहीं करना चाहिए। भगवान को फल?, मिष्ठान्न आदि का यथाशक्ति भोग लगाकर स्वयं ग्रहण करें। इस प्रयोग के प्रभाव एवं भगवान की कृपा से सारी समस्याएं जो आपके जीवन में हैं, वह होली की अग्नि में स्वाहा हो जाएगी तथा आपका जीवन सरल, सुगम एवं समृद्धिशाली हो जाएगा।

Holi 2021: इस साल राशि के अनुसार करें होलिका दहन की पूजा

Holi 2021 : रंग खेलने से एक रात पहले क्यों जलाई जाती है होलिका, क्यों होलिका पूजन होता है अनिवार्य?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर