नई दिल्ली. Holi 2019: भारतीय संस्कृति में रंगों का काफी ज्यादा महत्व है. देश भर में लोग होली का बड़ी बेसब्री से इंतजार करते हैं. हिन्दू मान्यता के मुताबिक होली पर्व का एक विशेष महत्व है. हिन्दू पंचांग के अनुसार, होली फाल्गुन महीने की पूर्णिमा को मनाई जाती है. इस बार होली का त्योहार चैत कृष्ण प्रतिपदा 21 मार्च को मनाई जाएगी. होली का पर्व 2 दिन तक मनाया जाता है. हिंदु रीति रिवाज के मुताबिक पहले दिन होलिका दहन किया जाता है, वहीं दूसरे दिन रंग वाली होली खेली जाती है. इस साल 20 मार्च 2019 को होलिका दहन है. इस बार होलिका दहन पर बेहद दुर्लभ संयोग बन रहे हैं.

हिंदु मान्यता के मुताबिक इन संयोगों की वजह से कई अनिष्ट दूर होंगे. वहीं फाल्गुन कृष्ण अष्टमी14 मार्च से होलाष्टक की शुरुआत हो चुकी. होलाष्टक आठ दिन तक चलता है. मिली जानकारी के मुताबिक लगभग सात वर्षों के बाद देवगुरु बृहस्पति के उच्च प्रभाव में गुरुवार को होली मनाई जाएगी. जिस कारण यह काफी अच्छा माना जा रहा है.

होलिका दहन का यह है शुभ समय: होलिका दहन का शुभ समय 20 मार्च की रात्रि 8.58 से रात 12.05 बजे तक है. यह भद्रा का समय, भद्रा पुंछ: शाम 5.24 से शाम 6.25 बजे तक है. भद्रा मुख: शाम 6.25 से रात 8.07 बजे तक है. भारतीय लोग होली की तैयारी में काफी लंबे समय पहले से लग जाते हैं. होली का त्योहार बड़े प्रेम भाव से मनाया जाता है.हिंदु धर्म में इसकी खास मान्यता है.

Holi 2019: होलाष्टक में भूलकर भी न करें ये 5 काम, होली से पहले नहीं कर सकेंगे मांगलिक व शुभ कार्य

Holi 2019: होली के दिन राशि के हिसाब के पहने कपड़े, जिंदगी भर खुशियों के बरसेंगे रंग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर