नई दिल्ली: हरतालिका तीज जो हिन्दू धर्म में सुहागिनों का सबसे बड़ा व्रत माना जाता है. इस बार हरतालिका तीज 12 सितंबर को है. महिलाएं इस दिन अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती हैं. और सोलह श्रृंगार करती हैं. हरतालिका तीज के दिन सुहागिनें बेशक सोलह श्रृंगार करें, लेकिन तीज के एक दिन पहले से ही महिलाएं मेहंदी लगवाने लगती हैं. इसलिए आज हम आपके सामने पेश करने जा रहे हैं, मेहंदी की लेटेस्ट डिजाइन. जिसे आप इस हरतालिका तीज पर ट्राई कर सकते हैं. और ये भी कहना गलत नहीं होगा कि ऐसा डिजाइन आपको किसी के पास नहीं दिखेगा. 

कब है तीज

हरतालिका तीज भादो मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है. इस दिन सुहागने अपने पति की लंबी उम्र और कुंवारी कन्याएं मनचाहा वर पाने के लिए इस दिन निर्जला व्रत रखती हैं और विधि विधान से पूजा की जाती है. ऐसा माना जाता है कि सबसे पहले इस व्रत को माता पार्वती ने शिवजी के लिए व्रत रखा था. जिसके बात माता पार्वती को भगवान शेकर जी पति के रूप में प्रप्त हुए. इस बार 12 सितंबर को हरतालिका तीज है.

कैसे पक्का रंग चढेगा मेहंदी का

मेहंदी को लगाने के बाद अगर आपको उसे हटाना है तो मेहंदी के सूखने तक का इंतजार करें. उसके बाद मेहंदी हटाएं. मेहंदी को पानी से धोकर हजाने के बजाए उसे झाड़ दें. मेहंदी को उतारने से पहले हाथों पर सरसों का तेल अच्छे से लगा लें. उसके बाद झाड़कर मेहंदी हटाएं. मेहंदी हटाने के बाद हाथों पर सरसों तेल दुबारा लगाएं.

Hartalika Teej 2018: जानिए हरतालिका तीज व्रत का महत्व और शुभ मुहूर्त, ये हैं व्रत के नियम, कथा और पूजन विधि

हरतालिका तीज 2017: ऐसे उपाय जो और भी बढ़ा देंगे आपके प्रति पति का प्यार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App