नई दिल्ली. हरतालिका तीज इस बार 12 सितंबर की पड़ रही है. यह व्रत महिलाएं अपने पति के लंबी आयु के लिए रखती हैं. इस दिन महिलाएं भगवान शिव के लिए निर्जला व्रत रख कर भगवान से सौभाग्यवती रहने का आशीर्वाद मांगती है. इस व्रत का महत्व भी करवा चौथ समान है. इस त्योहार पर महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं. इस व्रत के भी कई नियम कायदे होते हैं लेकिन कुछ ऐसे काम हैं जो इस भूलकर भी नहीं करने होते हैं.

1) गुस्सा न करें- हरतालिका तीज पर व्रत के दौरान ईर्ष्या व क्रोध से दूर रहे. इस दिन सुहागिन महिलाएं क्रोध से दूर रहने के लिए मेंहदी लगाती हैं. इस दिन मेहंदी लगाने का खास महत्व होता है. 
2) बुजुर्गों का अपमानित न करें.– किसी भी दिन वैसे तो बुजुर्गों का अपमान नहीं करना चाहिए. लेकिन इस दिन तो भूलकर भी किसी वृद्ध को ठेस न पहुंचाएं.
3) हरतालिका तीज पर रात को सोने की मनाही- सामान्यतौर पर व्रत के दौरान सोने की मनाही होती है. लेकिन इस इकलौते व्रत में रात को भी सोने की मनाही होती है. इस दिन रात को जागरण व भजन करती हैं.
4) दूध न पीए- जानकारों का मानना है कि हरतालिका तीज पर दूध नहीं पीना चाहिए. पुराणों में बताया गया है कि दूध का सेवन इस दिन करने से उसे सर्प योनि में जन्म मिलता है.
5) पति से न करें लड़ाई-झगड़ा- हरतालिका तीज पर महिलाएं पति को ही प्रसन्न करने और उनकी लंबी आयु के लिए कामना करती है. वहीं अगर इस दिन पत्नी पति से रुष्ट व्यवहार करेगी तो उसका व्रत पूर्ण नहीं होता है.

Hartalika Teej 2018 Mehandi Designs: सुहागिनों के सबसे बड़े व्रत हरतालिका तीज पर लगाएं ये लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Hartalika Teej 2018: जानिए हरतालिका तीज व्रत का महत्व और शुभ मुहूर्त, ये हैं व्रत के नियम, कथा और पूजन विधि