नई दिल्ली/ हरिद्वार में महाकुंभ में स्नान करने के लिए संतो को अपनी 72 घंटे के पहले की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी. सभी ठरहने वाले संतो की कोविड की एंटीजन जांच की जाएंगी. संतो में शारीरिक दूरी, मास्क और सैनिटाइजेशन जैसे नियमों का पालन करना जरूरी होगा. इसके लिए संतों को जागरूक किया जाएगा.  साथ ही साथ कोरोना को मद्देनजर रखते हुए कोरोना गाइडलाइंस का पालन किया जाएगा.

देश के 5 राज्यों में कोरोना का नया स्ट्रेन तेजी पकड़ने लगा है. फैल रहे कोरोना स्ट्रेन को देखते हुए महाकुंभ आयोजन को लेकर सरकार, मेला प्रशासन और जिला प्रशासन ज्यादा सचेत हो गया है. कुंभ की जल्द ही अधिसूचना जारी कर दी जाएगी. 1 अप्रैल से हरिद्वार महाकुंभ 2021 शुरू हो जाएगा. कुंभ को लेकर जारी मानक संचालन प्रक्रिया में कुंभ स्नान के लिए पंजीकरण और कोविड जांच रिपोर्ट अनिवार्य होगी.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए हर की पौड़ी हरिद्वार में आयोजित होने वाला महाकुंभ मेले के आयोजन को छोटा कर दिया गया है. इस बार सिर्फ 28 दिन का ही कुंभ मेला लगेगा. एक अप्रैल से कुंभ का आयोजन शुरू हो रहा है. साल 2021 में हरिद्वार में आयोजित कुंभ मेले के चार शाही स्नान घोषित किए गए है. वो कुछ इस तरह है पहला स्नान महाशिवरात्रि 11 मार्च 2021 से शुरू होकर चैत्र अमावस्या यानी सोमवती अमावस्या 12 अप्रैल 2021, बैशाखी कुम्भ स्नान 14 अप्रैल 2021 और चैत्र पूर्णिमा 27 अप्रैल 2021 को खत्म होंगे. हालांकि इसके अलावा पर्व स्नान होंगे.

Haridwar Kumbh Mela: कुंभ मेले पर भी कोरोना का सायां, सिर्फ 28 दिनों का होगा मेला

Bengal Assembly Election 2021 : पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव से पहले मिथुन चक्रवर्ती से मिले आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत