नई दिल्ली/ यूपी के वृंदावन में वैष्‍णव कुंभ लग रहा है जिसे कुंभ बैठक भी कहा जाता है. देश में चार प्रमुख कुंभ लगते है. हरिद्वार, नासिक, उज्‍जैन और प्रयागराज. हालांकि इसमें वैष्‍णव अखाड़े हिस्‍सा लेते हैं. इस साल कुंभ मेला एक अप्रैल से ही शुरू होगा. इसकी जानकारी शुक्रवार को मुख्यसचिव ओम प्रकाश ने दी है उन्होंने बताया कि फिलहाल तो मेले की अवधि में कोई बदलाव नहीं किया गया है. शनिवार को यानी आज मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत कुंभ तैयारियों को लेकर बैठक करेंगे.

मुख्यसचिव ओम प्रकाश ने शुक्रवार को कैबिनेट बैठक में एक सवाल के जवाब में बताया कि इस साल कुंभ मेले की नोटिफिकेशन एक अप्रैल को ही लागू की जाएगी. हालांकि जल्द ही कुंभ मेले की नोटिफिकेशन शेयर कर दी जाएगी. आगे बताया कि फिलहाल इस साल कुंभ मेले को एक अप्रैल से 30 अप्रैल तक कराए जाने की ही योजना है.इस में कुछ बदलाव भी किया गया है.

बता दें कि उत्तराखंड आने वाले सभी पर्यटकों को पर्यटन स्थल और वहां के पैकेज की पूरी जानकारी एक ही मंच पर मिलेगी. उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की ओर से प्रेमनगर नंदा की चौकी स्थित होटल एलपी विलास में तीन दिवसीय एक भारत, श्रेष्ठ भारत, देखो अपना देश इंडिया ट्रेवल मार्ट की शुरुआत हुई है. 

कुंभ मेला निदेशक पूनम चंद ने कहा कि कोरोनाकाल में घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह एक सराहनीय कदम हैं. इससे उत्तराखंड में आने वाले लोगों को विभिन्न यात्रा पैकेजों के बारे में भी आसानी से जानकारी मिलेगी. गुजरात टूरिज्म के सहायक प्रबंधक संदीप कुमार ने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत के सभी लोगों के लिए एक मूल्यवान विरासत है. इस अवसर पर अजय गुप्ता, एमडी, आईटीएम, अतुल भंडारी, पर्यटन डीटीडीओ, धर्म सिंह सजवाण, यूटीडीबी के प्रशासनिक अधिकारी, लता मोध आदि मौजूद रहे.

Kumbh Mela 2021: जानिए कुंभ मेले में शाही स्नान का महत्व

Haridwar Kumbh 2021: हरिद्वार में शाही स्नान से पहले साधुओं का भस्म करतब, देखे वीडियो

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर