नई दिल्ली. हिन्दू पंजाग के अनुसार कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के अलावा चैत्र शुल्क पक्ष की पूर्णिमा को हनुमान जंयती मनाई जाएगी. इस साल हनुमान जंयती 19 अप्रैल को मनाई जाएगी. ज्योतिष के अनुसार इस साल महावीर जंयती के दो शुभ संयोग में हनुमान जंयती का पर्व बेहद ही धूमधाम से मनाया जाएगा. इस शुभ संयोग में बजरंगबली की अराधना करने और कुछ उपायों से भगवान हनुमान जी की विशेष आशिर्वाद की प्राप्ति होगी.  उनकी कृपा के लिए हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी की पूजा करें. साथ ही हनुमान चालिसा का पाठ जरूर करें.

हनुमान जंयती के दिन हनुमान साधकों के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है. इस दिन बजरंगबली की विधि विधान के साथ पूजा की जाती है, लाल चोला से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं. उनका हर बिगड़ा हुआ काम बन जाता है और हनुमान जी की विशेष कृपा होती है.

यदि आपके जीवन में काफी परेशानी है या कई दिनों से आप किसी परेशानी का सामना कर रहे हैं. जिससे आपको निजात नहीं मिल पा रहा. तो उसके लिए आप हनुमान जयंती के दिन सुबह जग के स्नान करें. उसके बाद स्वच्छ कपड़े पहन कर बजरंगबली की मूर्ति या उनकी तस्वीर के सामने सिंदूरी चोला चढ़ाएं. इससे आपको परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा.

इसके साथ ही अगर आपके जीवन में लगातार बाधाएं आ रही हैं और तमाम कोशिशों के बाद भी आपकी परेशानी दूर नहीं हो रही, उसके लिए आप बजरंगबली को इत्र और गुलाब की माला चढ़ाएं. हनुमान जी को लाल रंग काफी प्रिय है. पुजा में लाल रंग के फूल को ही चढ़ाएं साथ में हनुमान चालिसा का पाठ पढ़े. ध्यान रहे हनुमान चालिसा पढ़ते समय मुह हमेशा पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए.

बजरंगबली को भोग लगाने के बाद हनुमान जी के सामने बैठकर तुलसी की माला से मंत्रों का जाप करें. इससे बजरंगबली काफी प्रसन्न रहेंगे. इसके साथ ही इस बात का खास ख्याल रखें की बजरंगबली को लाल रंग अधिक प्रिय है इसलिए उनपर सिंदूरी चोला चढ़ाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App