नई दिल्ली. साल में कुल मिलाकर चार नवरात्रि आते हैं. साल की शुरूआत में चैत्र नवरात्रि और एक शारदीय नवरात्र होते हैं जिन्हें लोग भलि भांति जानते हैं. इसी तरह साल में दो बार गुप्त नवरात्रि भी आते हैं. आज गुप्त नवरात्रि का दूसरा दिन है जिस दिन मां तारा देवी की पूजा की जाती है. गुप्त नवरात्रि को को महाशक्तिओं के लिए जाना जाता है. इन नवरात्रि में मां भगवती की नौ शक्तिओं की पूजा की जाती है.

शनिवार को मां तारा देवी की पूजा की जाएगी. दूसरे दिन कि पूजा को आद्य शक्ति के नाम से भी जाना जाता है जिसे महाविद्या की महादेवी कहा जाता है. ज्योतिषी के अनुसार कहा जाता है कि मां तारा देवी को चांदी की धातु से बना कुछ चढ़ाना बेहद शुभ माना जाता है. मां तारा देवी की कृपा से हर बिगड़े काम बनते हैं और किसी की बुरी नजर परिवार को नहीं लगती. मां तारा देवी की कृपा से घर में नकारात्मक ऊर्जाओं का वास खत्म होता है.

गुप्त नवरात्रि पर मां तारा देवी की पूजा, उपाय और शुभ मुहूर्त
गुप्त नवरात्रि के दूसरे दिन रात्रि में तारों की पूजा करने की जाती है. गुप्त नवरात्रि के दूसरे दिन की पूजा व महाविद्या के शुभ मुहूर्त की बात करें तो इस दिन पूजा करने का शुभ मुहूर्त है रात 10 बजे. ठीक इस समय पूजा करना बेहद शुभ साबित होगा. तारा देवी की पूजनोपरांत लाल पुष्प चढाएं और उसके बाद इस फूल को तिजोरी में या पैसे रखने के स्थान में लाल कपड़े में करके रख लें. ऐसा करने से आपके घर में कभी धन की कमी नहीं होगी. जैसा कि सभी जानते हैं कि तारा देवी धन की देवी कहलाती हैं इन्हें आर्थिक उन्नति का प्रतीक माना जाता है. तारा देवी को प्रसन्न कर आप आप धन की परेशानियों से पीछा छुड़वा सकते हैं.

गुप्‍त नवरात्रि 2018: इस बार नवरात्रि शुरू हो रहे हैं पुष्य नक्षत्र में, ये है पूजा का शुभ मुहूर्तट

Gupt Navratri 2018: जानिए गुप्त नवरात्रि 2018 में घटस्थापना, शुभ मुहूर्त और पूजा का समय

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App