नई दिल्ली. Ganga Saptami 2019: हिंदू धर्म में मां गंगा का महत्व का काफी अधिक है. वैशाख शुल्क अश्लेषा नक्षत्र में शनिवार 11 मई यानी आज गंगा सप्तमी मनाई जा रही है. शास्त्रों के अनुसार गंगा सप्तमी के दिन गंगा नदी में स्नान करने को बेहद खास माना जाता है. वहीं गंगा सप्तमी के शुभ मुहूर्त के बारे में बात कि जाए तो वह शुक्रवार रात 9:41 से शुरू हो गया है, जो शनिवार को शाम 7:44 तक जारी रहेगा. इसके साथ ही गंगा सप्तमी पर पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 11 बजकर 5 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर 42 मिनट तक रहेगा. गंगा सप्तमी को गंगा जयंती के नाम से जाना जाता है.

पुराणों के आधार पर गंगा सप्तमी के दिन मां गंगा ने स्वर्ग लोक से होकर भगवान शंकर जी की जटाओं में प्रवेश किया था. इस लिए खास दिन को गंगा सप्तमी कहा गया. गंगा सप्तमी के इस शुभ अवसर पर गंगा नदी के घाटों पर लाखों के तादात में श्रद्धालुओं का जनसैलाब मौजूद रहता है. इस दिन लोग गंगा नदी में स्नान और मां गंगा की पूजा-अर्चना करने से जीवन के कष्टों से मुक्ति पाकर पुण्य लाभ की प्राप्ती करते हैं. इस बीच हम आपको बताएंगे कि गंगा सप्तमी के मौके पर किस प्रकार मां गंगा की अराधना करनी चाहिए-

जानें गंगा सप्तमी पर कैसे करें मां गंगा की पूजा-

  1. गंगा सप्तमी के दिन लोग गंगा नदीं में स्नान करने के लिए स्नान के शुभ मुहूर्त के हिसाब से घरों से बाहर जाते हैं. इसके अलावा भक्त गंगा मंदिर भी जा सकते हैं.
  2. गंगा नदी पर पहुंचने के बाद श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएं और भगवान ब्रह्मा जी और विष्णु जी की पूजा करें.
  3. इसके बाद मां गंगा की विधि विधान से पूजा करने के साथ-साथ मां गंगा की आरती का गुणगान करना चाहिए.
  4. गंगा स्ऩान के दौरान गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती, नर्मदे सिंधु कावेरी जले अस्मिन सन्निधिम् कुरु मंत्र का षोडशोपचार पूजने करें.
  5. गंगा सप्तमी के दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व है. मां गंगा की आराधना सहित भक्तों को ब्रह्माणों को दान और जरूरतमंदो को भोजन भी कराना चाहिए.
  6. पूजा करने के बाद गाय की पूजा करें और गाय को चारा खिलाएं.

जानिए गंगा सप्तमी के महत्व के बारे में-

गंगा सप्तमी के दिन गंगा नदी में स्नान करने से इंसान को सभी पापों से मुक्ति मिलती है. इसके साथ ही इस शुभ दिन पर मां गंगा की आराधना करने से मंगल दोष की शांति और पितृ दोष से मुक्ति के अलावा ऋद्धि-सिद्धि मिलती है. दूसरी ओर गंगा सप्तमी के दिन गंगा नदी में स्नान करने से रोगों से भी मुक्ति मिलती है. तो वहीं परिवार पर हमेशा मां गंगा की असीम कृपा बरसती रहती है.

Ramadan 8 May Iftar Timing in Delhi Mumbai: रमजान 2019 के दूसरे दिन दिल्ली, मुंबई समेत इन शहरों में 8 मई का रोजा इफ्तार समय

Sheetala Ashtami 2019 Puja Mantra: शीतला माता के इन मंत्रों का जाप कर आप भी पा सकते हैं सुखी और निरोगी जीवन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App