नई दिल्ली. गणेश चतुर्थी उत्सव 13 सितबंर से शुरू हो रहा है. गणेश उत्सव 13 सितबंर से शुरू होकर 23 सितंबर तक चलेगा. इस बार गणेश चतुर्थी कई मायनों में खास है. इस बार गणेश चतुर्थी पर गुरु स्वाति योग भी बन रहा है, जिसका ज्योतिषी में विशेष महत्व है. इस बार 120 वर्ष बाद ऐसा संयोग बनने जा रहा है जो गणेश पूजन के लिए अति लाभकारी है.

ज्योतिषशास्त्रों के अनुसार 120 साल बाद इस गणेश चतुर्थी पर ऐसा दुर्लभ और शुभ योग बन रहा है. ज्योतिषी जानकारों का कहना है कि इस गणेश चतुर्थी बप्पा की मूर्ति स्थापित करना लाभकारी सिद्ध होगा. इस बार बृहस्पतिवार भी पड़ रहा है जिसका अर्थ होता है गुरुओं का दिन. इस दिन किए गए अच्छे कार्यों का फल अवश्य मिलेगा. जानकारों का मानना है कि इस नक्षत्र के दौरान ऋद्घि सिद्धि के दाता भगवान गणपति बप्पा की स्थापना करने से घर परिवार में सुख समृद्धि का वास होगा.

भगवान गणेश को ज्ञान का देवता माना जाता है. इस शुभ संयोग पर पूजा करने से भक्तों को ज्ञान की प्राप्ति होगी और बुद्धि सिद्धि मिलेगी. इस बार गणेश चतुर्थी 12 सितंबर को 4 बजकर 7 मिनट से शुरू हो जाएगी. जिसके बाद यह 13 सितबंर को 2 बज कर 51 मिनट तक रहेगी.

गणेश चतुर्थी पूजा का शुभ मुहूर्त
11 बजकर 08 मिनट से 13 बजकर 34 मिनट तक

गणेश चतुर्थी से पहले वरुण धवन ने सुई धागा छोड़, फैंस से इको फ्रेंडली गणपति मनाने का इस अंजाद में किया निवेदन

Happy Ganesh Chaturthi GIF Images: गणेश चतुर्थी जिफ मैसेज, फोटो और SMS के जरिए भेजें शुभकामनाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App