नई दिल्लीः Ganesh Chaturthi 2018: गणेश चतुर्थी इस साल 13 सितंबर को मनाई जाएगी. हिन्दू धर्म में किसी भी कार्य की शुरूआत भगावण गणेश की पूजा से ही की जाती है मान्यता के मुताबिक सर्वप्रथम उनकी पूजा करने से काम निश्चित सफलता मिलती है. ऐसे में हर भक्त की इच्छा होती है की वो भगवान गणेश को अपनी भक्ति से प्रसन्न कर उनका आर्शिवाद प्राप्त कर सके. इसलिए उनकी पूजा में कुछ विशेष चीजों का बहुत महत्व होता है जिसके जिनके बिना न भगवान गणेश की पूजा को अधूरा माना जाता है.

शास्त्रों के मुताबिक भगवान गणेश की पूजा में सबसे मह्वपूर्ण होता है मोदक क्योंकि उनको बेहद प्रिय है. इसके अलावा और भी चीजे हैं जिनको पूजा में शामिल करने से भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं और अपनी कृपा आप पर बरसाते हैं. ऐसे में हर किसी भक्त के मन में यह सवाल जरूर उठता है कि वो पांच चीजे कौन सी हैं जिनसे भगवान गणेश की पूजा कर उनको प्रसन्न किया जाए.

इसलिए हम आपको बताने जा रहे हैं वो पांच चीजें जिनको भगवान गणेश की पूजा करते वक्त शामिल करना जरूरी होता है क्योंकि उनका अपना विशेष महत्व होता है और इन पांच चीजों के बिना उनका पूजन भी अधूरा ही माना जाता है. इसलिए 13 सितंबर का इंतजार न करें और आज ही जाने कि कौन सी हैं वो पांच चीजें जिनको भगवान गणेश की पूजा में शामिल करना बहुत जरूरी होता है.

मोदक
वैसे तो भगवान गणेश को रसगुल्ला, मालपुआ, रसमलाई और लड्डू का भोग भी लगाया जाता है लेकिन इन सबसे बढ़कर है मोदक क्योंकि भगवान गणेश को मिष्ठान में मोदक अति प्रिय है. इसलिए जब भी भगवान गणेश की पूजा करें उनको मोदक का भोग जरूर लगाएं.

गेंदे के फूल
वैसे तो आप कोई भी पुष्प भगवान गणेश को अर्पित कर सकते हैं लेकिन उनको सभी फूलों में सबसे ज्यादा प्रिय है गेंदे का फूल इसलिए जब भी भगवान गणेश की पूजा करें तो उनको गेंदे के फूल से बनी माला या गेंदे के फूल अर्पित करें.

दूब घास
भगवान गणेश को जितना प्रिय गेंदे का फूल है उतनी ही प्रिय उनको दूब घास भी है. इसलिए उनकी पूजा करते वक्त भगवान गणेश को दूब घास जरूर अर्पित करें.

केला
भगवान गणेश को मिष्ठान में मोदक और फलों में केला सबसे प्रिय है. इसलिए आगे से भगवान गणेश की पूजा करते वक्त हमेशा केले का जोड़ा चढ़ाएं जिससे भगवान गणेश प्रसन्न होंगे.

शंख
वैसे तो शंख बजाना प्रत्येक भगवान की पूजा में महत्वपूर्ण होता है लेकिन भगवान गणेश की पूजा करते वक्त शंख बजाने का अपना ही विशेष महत्व है. मान्यता के मुताबिक मोदक और केले की तरह शंख की ध्वनि भी भगवान गणेश को अति प्रिय है.

Ganesh Chaturthi 2018: गणपति बप्पा की मूर्ति खरीदने से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान

Ganesh Chaturthi 2018: अनंत चतुर्दशी पर गणेश विसर्जन तिथि, समय और शुभ मुहूर्त

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App