नई दिल्ली. 13 सितंबर से गणेश चतुर्थी के पर्व की शुरुआत हो रही है. गणपति बाप्पा के स्वागत के लिए दिल्ली से लेकर मुंबई के पंडाल पूरी तरह से बाप्पा के रंग में रंग चुके हैं. दिल्ली में जहां दिल्ली के महाराजा गणपति की धूम है, वहीं मुंबई के चर्चित सार्वजनिक गणपित ‘लालबाग चा राजा’ का अपना महत्तव है. मान्याता है कि लालबाग चा राजा गणपति अपने दरबार में आने वाले हर भक्तों की इच्छा को पूरी करते हैं. ऐसे में भक्तों में भी बाप्पा के दर्शन करने और उनकी एक झलक पाने की हमेशा से उत्सुकता बनी रहती है. इसी उत्साह के बीच लालबाग चा राजा के पहली फोटो भी आ गई है.

विशालकाय बप्पा वहीं लाल धोती, सर पर मुकुट सजाए, केसरिया रंग का दुप्टटा लिए नजर आ रहे हैं. वहीं उनके पीछे नीला झरना नजर आ रहा है जो पेड़ पोधों और पहाड़ों से सजा है. पंडाल की थीम को इस बार प्रकृति से जोड़कर बनाया गया है. लालबाग चा राजा और खूबसूरत पंडाल को देखने के लिए आम लोगों के साथ ही बॉलीवुड और पॉलिटिशयन भी बाप्पा से आर्शीवाद लेने पहुंचते है.

हर बार की तरह इस बार भी विशाल गणपित मूर्ति के डिजाइन को पंडाल आयोजकों ने पेटेंट करवा लिया है. अपने पसंदीदा गणेश भगवान की झलक पाने के लिए पंडाल में दो पंक्तियां बनाई गई हैं – एक सामान्य रेखा और एक ‘नवस’ रेखा. नवस रेखा उन भक्तों के लिए है जो बाप्पा के पैरों के पास उनकी पूजा करना चाहते हैं, जबकि सामान्य रेखा में भक्त मूर्ति से कुछ मीटर दूरी पर उनकी पूजा कर सकते है. 

गणेश चतुर्थी 2018: दिल्ली में बैठेंगे इको फ्रेंडली गणेश जी, भक्तों को प्रसाद में मोदक के साथ मिलेंगे पौधे

Happy Ganesh Chaturthi wishes in Marathi for 2018: गणपती मराठी मैसेज में फेसबुक, व्हाट्सअप पर भेजें गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं