नई दिल्ली. भगवान गणेश को बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्‍य के देवता के रूप में माना जाता है. हिंदू धर्म में सभी देवी देवताओं में से भगवान गणेश का स्थान सर्वप्रथम है. गणेश जी के पर्व गणेश चतुर्थी मनाई जाती है. इस त्यौहार को खास तौर पर महाराष्‍ट्र और मध्‍य प्रदेश के साथ उत्तर भारत में धूमधाम से मनाया जाता है. बात करें गणेश चतुर्थी पर्व की तो ये10 दिन तक चलने वाला उत्‍सव है जिसमें भक्त भगवन गणेश का अपने घर में स्वागत करते हैं और विधिवत पूजा कर उन्हें अनंत चतर्दशी पर गणेश चतुर्थी की विदाई की जाती है.

गणेश चतुर्थी से शुरू होकर अनंत चतुर्दशी के दिन इस त्यौहार का समापन होता है. गणेश जी जिन्हें प्‍यारे बप्‍पा भी कहा जाता है. 10 दिनों तक चलने वाले इस पर्व में भक्त अपने घर बप्पा की मूर्ति को घर लाकर उनका सत्‍कार करते हैं. 10 दिन तक विधिवत तौर पर भगवान की पूजा करते हैं और घर की सुख शांति के लिए मनोकामना करते हैं. फिर 10वें दिन यानी कि अनंत चतर्दशी को विसर्जन के साथ मंगलमूर्ति भगवान गणेश की विदाई जाती है. विदाई के लिए हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि बप्पा अगले बरस जरूर आएंगे.

ऐसे करें भगवान गणेश की मूर्ति स्थापना
गणपति की स्‍थापना गणेश चतुर्थी के दिन मध्‍याह्न में की जाती है. मध्याह्न का शुभ मुहूर्त की बात करें तो 11:04 से 13:32 शाम तक है. इस बीच ही भगवान गणपति मूर्ति स्थापना करें. इस दिन मान्‍यता है कि मध्‍याह्न काल में भगवान गणेश का जन्म हुआ था. इतना ही नहीं कहा जाता है कि गणेश चतुर्थी के दिन चांद नहीं देखना चाहिए. इस दिन स्नान आदि से निर्वित होकर बप्पा की मूर्ति स्थापित करें. उससे पहले मंदिर व घर की सफाई जरूर करें. गंगा जल से घर शुद्ध कर मंदिर या पूजा स्थल में बप्पा की मूर्ति स्थापित करें. अपने माथे पर तिलक लगाएं और पूर्व दिशा की ओर मुख कर पूजा का आसन रखें. बप्पा की मूर्ति लकड़ी के पटरे पर रखें और गेहूं, मूंग, ज्‍वार के ऊपर लाल वस्‍त्र बिछाकर बप्पा की प्रतिमा या मूर्ति स्थापित करें.

गणेश चतुर्थी पूजा मुहूर्त
गणेश पूजा का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त – दिन में 11:25 से 1 बजकर 57 मिनट तक
मध्याह्न गणेश पूजा – 11:04 से 13:32
गणेश चतुर्थी तिथि आरंभ व गणेश स्थापना तिथि- 2 सितंबर 2019
अनंत चतर्दशी (गणेश विसर्जन) – 12 सितंबर 2019

Aja Ekadashi 2019 Date Calendar: कब मनाई जाएगी अजा एकादशी 2019, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App