नई दिल्ली: महाशिवरात्रि 2018 पर इस साल महासंयोग बन रहा है. श्रद्धालुओं में Maha ShivRatri Date को लेकर कंफ्यूजन बनी हुई है, अगर आप भी महाशिवरात्रि व्रत रखते हैं तो आपके लिए तिथि जानना बेहद जरूरी है. बता दें कि 13 और 14 फरवरी दोनों दिन चतुर्दशी तिथि लग रही है. तिथि के फेर में उलझने के बजाय हमें भगवान शिव का धन्यवाद करना चाहिए कि भक्तों को दो दिन व्रत करने का अवसर मिला
है.

आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि जो भक्त 13 फरवरी 2018 को व्रत रखेंगे उन्हें एक साथ कई व्रतों का पुण्य मिलेगा. बता दें कि सबसे पहला संयोग ये है कि 12 तारीख की मध्यरात्रि के बाद सूर्य संक्रांति शुरू हो रही है, सूर्य मकर से कुंभ राशि में पहुंचेंगे. इसी कारण 13 फरवरी 2018 को संक्रांति का पुण्यकाल भी रहेगा. दूसरा संयोग ये है कि इस दिन मंगलवार है, इसी के साथ पूरे दिन त्रयोदशी तिथि है और रात 11 बजकर 35 मिनट पर चतुर्दशी तिथि है.

मंगल और त्रयोदशी के संयोग से भौम प्रदोष व्रत का संयोग बना हुआ है. क्या आप जानते हैं कि ये व्रत आरोग्य और संतान सुख प्रदान करने वाला माना गया है. 13 फरवरी को जो भी भक्त महाशिवरात्रि व्रत करेंगे उन्हें भौम प्रदोष व्रत का भी पुण्य प्राप्त होगा और मंगलवार के व्रत का भी. तीसरा शुभ संयोग ये बन रहा है कि इस दिन सिद्धि योग बना हुआ है. यानी जिस भी मनोरथ से शिव की पूजा करेंगे उससे वह सिद्ध होगा. इस दिन कोई भी शुभ कार्य करना सफलता दिलाने वाला रहेगा.

जो भी शिव भक्त 14 फरवरी 2018 को महाशिवरात्रि व्रत करेगा उन्हें तिथि और तारीख का अद्भुत संयोग मिलेगा जो बहुत ही दुर्लभ है. खास बात ये होगी की इस दिन तिथि भी 14 है और तारीख भी. इसके साथ ही 14 फरवरी को भगवान शिव का प्रिय नक्षत्र श्रवण भी है. आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि अगर कोई भी इस नक्षत्र में शिव पूजा करता है तो ये बहुत ही शुभ और फलदायी होगा.

Happy Mahashivratri messages and wishes in English for 2018: इन मैसेज को भेज अपने करीबियों को कहें ऊँ नम: शिवाय