Monday, August 15, 2022

जन्माष्टमी को लेकर कंफ्यूशन दूर, श्रीकृष्ण जन्मस्थान में इस दिन मनाई जाएगी जन्माष्टमी

नई दिल्ली, संशय दूर करते हुए श्रीकृष्ण जन्मस्थान ने 19 अगस्त को जन्माष्टमी का आयोजन करने का ऐलान कर दिया है. इसके अलावा द्वारिकाधीश और बांकेबिहारी में भी इसी दिन जन्माष्टमी मनाई जाएगी, इस घोषणा के बाद मंदिरों में तैयारी शुरू हो गई है.

इस दिन मनाई जाएगी

इस बार जन्माष्टमी को लेकर लोगों में 18 और 19 अगस्त की दो तारीखों पर संशय था, लेकिन अब इस संशय को दूर करते हुए श्री कृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के विशेष कार्याधिकारी विजय बहादुर सिंह ने बताया कि श्री कृष्ण जन्मस्थान पर कृष्ण जन्माष्टमी 19-20 अगस्त की रात में मनाई जाएगी, वहीं द्वारिकाधीश मंदिर के मीडिया प्रभारी राकेश तिवारी ने बताया कि मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 19 अगस्त को मनाया जाएगा. वहीं बांके बिहारी मंदिर में भी जन्माष्टमी 19 को ही मनाई जाएगी, बांके बिहारी में जन्माष्टमी पर होने वाली मंगला आरती 19-20 अगस्त की रात दो बजे की जाएगी.

जन्माष्टमी साल के बड़े त्योहारों में से एक है, मुख्य रूप से जन्माष्टमी की पूजा मथुरा, वृन्दावन और द्वारिका में विधि विधान से की जाती है. धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, भगवान श्री कृष्ण का जन्म इसी दिन हुआ था. ऐसी मान्यता है कि जन्माष्टमी के दिन व्रत करने से भगवान श्री कृष्ण सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं.

बता दें, कोरोना के चलते बीते दो साल से देश में जन्माष्टमी का भव्य आयोजन नहीं किया जा रहा था, लेकिन इस बार कृष्णा जन्माष्टमी बहुत ही भव्य तरीके से मनाई जाएगी. साथ ही, कई जगहों पर उत्सव और मेलों का भी आयोजन किया जाएगा. इस्कॉन मंदिरों में भी कृष्ण जन्माष्टमी का भव्य आयोजन किया जाता है. अभी से ही मंदिरों में जन्माष्टमी की तैयारी शुरू की जा रही है.

राहुल गांधी का संघ पर निशाना, जिन्होंने 52 सालों तक नहीं फहराया तिरंगा, वो चला रहे हैं ‘हर घर तिरंगा’ मुहिम

Latest news