नई दिल्ली. शारदीय नवरात्र के साथ ही पूरे देश में त्योहार का मौसम शुरू हो गया है. देश के पूर्वी हिस्से खासकर बिहार, झारखंड, यूपी और दिल्ली में मनाये जाने वाले पर्व छठ पूजा को महापर्व कहा जाता है. महापर्व छठ पूजा नेपाल के तराई क्षेत्रों में भी मनाया जाता है. धीरे-धीरे यह त्योहार प्रवासी भारतीयों के साथ-साथ विश्वभर में प्रचलित हो गया है. अब तो छठ पूजा पूरी दुनिया में रहने वाले पूर्वांचल के लोगों द्वारा मनाया जाने लगा है. छठ पूजा सूर्य भगवान और उनकी बहन छठी म‌इया को समर्पित है. छठ में मूर्तिपूजा नहीं की जाती है.

छठ पूजा में सूर्य भगवान को समर्पित कई भोजपूरी और हिंदी गाने हैं, जिनका इन पावन पर्व में विशेष महत्व है. शारदा सिन्हा, अनुराधा पौडवाल, उदित नारायण और अल्का यागनिक समेत पवन सिंह, दिनेश लाल यादव समेत कई हिंदी और भोजपुरी सिंगर्स के गाने इस दौरान फिजाओं में गूंजते रहते हैं.

हिंदू धर्म में मान्यता है की देव माता अदिति ने छठ पूजा किया था. एक कथा के अनुसार प्रथम देवासुर संग्राम में जब असुरों के हाथों देवता हार गए थे, तब देव माता अदिति ने तेजस्वी पुत्र की प्राप्ति के लिए देवारण्य के देव सूर्य मंदिर में छठी मैया की आराधना की थी. इससे खुश होकर छठी मैया ने उन्हें सर्वगुण संपन्न तेजस्वी पुत्र होने का वरदान दिया था.

Also Read, ये भी पढ़े- Karva Chauth 2019 Mehndi Design: करवा चौथ 2019 पर घर में ही आसान तरीके से लगाएं स्टाइलिश राजस्थानी और अरेबिक मेहंदी डिजाइन

यह पर्व चार दिनों तक मनाया जाता है. भैयादूज के तीसरे और दीवाली के चौथे दिन नहाय खाय से यह पर्व शुरू होता है. पहले दिन सेन्धा नमक, घी से बना हुआ अरवा चावल और कद्दू की सब्जी प्रसाद के रूप में ली जाती है. फिर अगले दिन से उपवास आरम्भ होता है. व्रतधारी महिलाएं पूरे दिन अन्न-जल त्याग कर शाम को करीब 7 बजे से खीर बनाकर पूजा करने के बाद प्रसाद ग्रहण करती हैं, जिसे खरना कहते हैं. इसके अगले दिन डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य यानी दूध अर्पण करते हैं. अंतिम दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य चढ़ाते हैं. अंत में लोगों को पूजा का प्रसाद दिया जाता है.

साभार T Sereis

साभार T Sereis

साभार T Sereis

Also Read, ये भी पढ़े- Karwa Chauth 2019: सुहागिनों के लिए खास है करवा चौथ का त्योहार, जानें क्यों छलनी से दिया जाता है चांद को अर्घ्य

Karva Chauth 2019: करवा चौथ पर पहली बार व्रत रखने वाली महिलाएं भूल कर भी ना करें ये 8 काम

Karwa Chauth 2019: इस बार 17 अक्टूबर गुरुवार को पड़ रहा है करवा चौथ 2019, जानें कब है चंद्रमा को अर्घ्य देने का मुहूर्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App