नई दिल्ली. छठ पूजा 2021 इस साल 8 नवंबर को नहाय-खाय और खरना के उत्सव के साथ शुरू हुई। तीसरे दिन संध्या अर्घ्य दिया गया. जहां भक्त अपने परिवार की लंबी उम्र और खुशी के लिए भगवान सूर्य से प्रार्थना करते हैं। आज (10 नवंबर) छठ पूजा का तीसरा दिन है और लोग पवित्र जल में डुबकी लगाते हुए सूर्य और छठी मैय्या की पूजा करते नजर आए। सूर्यास्त के समय, सभी लोग लोकगीत गाते दिखे.
शाम के प्रसाद में ज्यादातर ठेकुआ (एक सूखी मिठाई), नारियल और केला चढ़ाया गया. 

यदि आप आज संध्या अर्घ्य मनाने जा रहे हैं, तो यहां पूजा विधि और मंत्र के महत्व से लेकर सभी जानकारी दिए गए हैं।

छठ पूजा 2021: संध्या अर्घ्य मुहूर्त/शुभ समय:
10 नवंबर (संध्या अर्घ्य) सूर्यास्त का समय: 05:30 AM

सूर्योदय का समय (11 नवंबर 2021)- 06:41 AM

संध्या अर्घ्य अनुष्ठान:

छठ पूजा के दौरान, सूर्य भगवान की पूजा की जाती है और उन्हें अर्घ्य दिया जाता है। सूर्य देव के साथ छठ मैया की भी पूजा की जाती है। पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि छठी मैया या षष्ठी माता संतान की रक्षा करती है और उन्हें लंबी उम्र देती है। शास्त्रों में षष्ठी देवी को ब्रह्मा की मानस पुत्री भी कहा गया है।

पुराणों में इन्हें मां कात्यायनी भी कहा गया है, जिनकी पूजा नवरात्रि में षष्ठी तिथि को की जाती है। षष्ठी देवी को बिहार-झारखंड की स्थानीय भाषा में छठ मैया कहा गया है।

Chhath Puja 2021 Day 2: छठ के दूसरे दिन मनाया जाता है खरना, जानें इसकी पूजा विधि

Devuthani Ekadashi 2021: जानिए कब है देवउठनी एकादशी, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

The Perfect T20 Spell of 4 Maiden overs अक्षय कर्णेवार 4 ओवर मेडन फेंकने वाले पहले गेंदबाज बने

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर