नई दिल्ली. 11 नवंबर से छठ महापर्व शुरू हो जाएगा. पिछले कई दिनों से लोग छठ पर्व की सभी तैयारियों में जुटे हैं. चार दिनों तक चलने वाले इस महापर्व में भगवान सूर्य की उपासना का काफी अधिक महत्व है. छठ पूजा के पहले दिन 11 नंबवर को नहाय खाय. इसके बाद 12 नवंबर को खरना मनाया जाएगा. 13 नवंबर को सांझ का अर्ध्य है और व्रत का आखिरी दिन यानी 14 नवंबर को भोर का अर्ध्य है. इससे पहले जानिए छठ पर्व शुभ मुहूर्त और समय…

व्रत का प्रथम संयम 11 नवंबर को नहाय-खाय के साथ शुरू हो जाएगा. रविवार को छठव्रती प्रात: काल स्नानादि से निवृत्त होकर अरवा चावल, चने की दाल, लौकी से विभिन्न व्यंजन तैयार किया जाएगा.

प्रदोष काल में खरना का पूजन सर्वोत्तम: छठ व्रत का द्वितीय संयम खरना सोमवार यानि 12 नवंबर को है. मंदिर के पुजारी व विद्वान पंडित के अनुसार शाम 06:45 बजे से रात 09:55 बजे तक खरना का शुभ मुहूर्त है.

13 नवंबर, मंगलवार को संध्या समय में सूर्य देवता को पहला अर्घ्य दिया जाता है. शाम 4:30 से 5:10 बजे तक प्रथम अर्ध का सर्वोत्तम समय बताया गया है. मंगलवार यानि 13 नवंबर को अस्तचलगामी सूर्यदेव को अर्ध दान (प्रथम अर्ध) दिया जायेगा.

14 नवंबर, बुधवार यह छठ पूजा का अंतिम दिन है. 14 नवंबर की सुबह सूर्य देवता को अर्घ्य दिया जाएगा. द्वितीय अर्ध का सर्वोत्तम समय सुबह 5:49 से 7:15 बजे तक बताया जा रहा है.

Chhath Puja 2018: नहाय खाय, खरना का समय और सांझ और भोर के अर्ध्य का समय और शुभ मुहूर्त

Chhath Series Song 3.0 Release: छठ 3.0 सीरीज का गाना अईली छठी मईया रिलीज, सोशल मीडिया पर मचाया धमाल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App