नई दिल्ली. 16 जुलाई को साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है. भारत समेत यूरोप, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में चंद्र ग्रहण को देखा जा सकेगा. खास बात है कि गुरु पूर्णिमा के दिन यह चंद्र ग्रहण लग रहा है और ऐसा 149 साल के बाद हो रहा है. 12 और 13 जुलाई 1870 को भी गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लगा था. चंद्र ग्रहण के सूतक के कारण शाम के बाग गुरु पूजा के विधान प्रभावित हो जाएंगे. 16 जुलाई की रात 1.31 बजे चंद्र ग्रहण का स्पर्श होगा और मध्य तीन बजे व मोक्ष रात 4.30 बजे होगा. भारत में चंद्र ग्रहण की अवधि दो घंटे 59 मिनट रहेगी.

ज्योतिषों के मुताबिक, चंद्र ग्रहण का सूतक शुरू होने से 9 घंटे पहले ही लग जाएगा. जबकि सूर्य ग्रहण का 12 घंटे पहले लग जाता है. इस चंद्र ग्रहण का सूतक 16 जुलाई दोपहर 1.30 बजे से शुरू हो जाएगा जो 17 जुलाई सुबह 4.31 पर खत्म होगा. ज्योतिषियों के अनुसार, चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा के दिन है, साथ ही मंगलवार भी है और उत्तर आषाढ़ नक्षत्र है. इस ग्रहण के चलते देश में प्राकृतिक आपदा, राजनीति में उथल-पुथल होने की संभावनाएं हैं. इस दिन ग्रहण का आम लोगों पर काफी असर बताया गया है. हालांकि, चंद्र ग्रहण के प्रभाव से बचने की कुछ सवाधनियां बताई गई हैं.

राशियों की बात करें तो मेष, सिंह, वृश्चिक और मीन राशि का चंद्रग्रहण का अच्छा असर पड़ेगा. मकर, तुला, कुंभ और मिथुन राशि पर प्रभाव अच्छा नहीं रहेगा. वहीं कर्क, वृषभ, धनु औऱ कन्या राशि पर असर सामान्य रहेगा.

चंद्र ग्रहण के दौरान बरतें ये सावधानियां

1. चंद्र ग्रहण के दौरान शमशान से न गुजरे, इस समय बुरी शक्तियां चरम पर होती हैं. गर्भवती महिला घऱ से न निकलें और न ही अपने ऊपर ग्रहण की छाया पड़ने दें नहीं तो गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान हो सकता है.

2. चंद्र ग्रहण के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से भी बचें. इस दौरान हाथ और पैर के नाखून भी न काटें. बाल और दाढ़ी बनवाने से भी बचें. इस दिन किसी का दी गई कुछ वस्तु न खाएं क्योंकि ऐसे समय में काफी लोग टोना-टोटका भी करते हैं.

3. चंद्र ग्रहण के समय किसी भी गरीब व्यक्ति का अपमान न करें नहीं खतरनाक परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं. साथ ही नारियल को बहते जल में प्रवाहित करें, ऐसा करने से राहु का बुरा प्रभाव आपके ऊपर से खत्म हो जाएगा.

Chandra Grahan 2019 Effect: 16 जुलाई को लगने वाले चंद्र ग्रहण के दौरान इन बातों का रखें ध्यान, चंद्र ग्रहण के बाद करें ये काम

Shravana Putrada Ekadashi 2019 Date Calendar: कब है श्रावण पुत्रदा एकादशी 2019, पूजा विधि, महत्व और कथा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App