नई दिल्ली. इस साल गुरु पूर्णिमा 16 जुलाई को खग्रास चंद्र ग्रहण पड़ने वाला है. इस चंद्र ग्रहण को पूरे भारत के लोग देख सकेंगे. गुरु पूर्णिमा पर पड़ने वाले इस चंद्र की ग्रहण की अवधि करीब तीन घंटे रहेगी. यह 16 जुलाई की रात करीब 1.32 बजे ग्रहण की शुरुआत होगी और करीब डेढ घंटे के बाद यानी की 3 बजे इस चंद्र ग्रहण का मध्य होगा और सुबह 4.30 बजे ग्रहण का मोक्ष होगा. आपको बता दें कि यह चंद्र ग्रहण जुलाई के महीने का दूसरा ग्रहण होगा. पहला 2 जुलाई को पूर्ण सूर्य ग्रहण है. लेकिन यह ग्रहण भारत में देखने को नहीं मिलेगा.

चंद्र ग्रहण को धार्मिक रूप से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. कहा जाता है कि चंद्र ग्रहण का राशियों पर भी प्रभाव पड़ता है. हिंदू शास्त्रों के अनुसार चंद्र ग्रहण के बाद स्नान जरूर करना चाहिए इसके अलावा गरीब और जरूरतमंद को दान करना चाहिए. मान्यता है कि चंद्र ग्रहण घटित होने के बाद सरोवर में स्नान करने से भी पाप धुल जाते हैं. वहीं गेहूं, चावल, दाल, गुड़ चना, वस्त्र, आभूषण जैसी चीजों का दान करने से जीवन में खुशहाली आती है.

इस चंद्र ग्रहण से भारत पर क्या प्रभाव पड़ेगा

यह चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा वाले दिन पड़ रहा है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस साल चंद्र ग्रहण का प्रभाव भारतीय राजनीति पर पड़ सकता है. मेष, वृष, कन्या, वृश्चिक, धनु व मकर राशि वाले लोगों को राजनीति में फायदा होगा. खग्रास चंद्र ग्रहण मंगलवार और उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में पड़ रहा है. इस चंद्र ग्रहण के प्रभाव से राजनीतिक उथल-पुथल के साथ ही प्राकृतिक आपदा की स्थति भी बन सकती है.

When is Chhath Puja 2019 Calendar: जानिए कब है छठ पूजा, नहाय-खाय, खरना, संध्या अर्घ्य और पारण तिथि

How to Make Money: मां लक्ष्मी के चमत्कारी टोटके बना देंगे धनवान, माता की बरसेगी कृपी, होगी पैसों की बारिश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App