नई दिल्ली/ चैत्र नवरात्रि को आने में अब कुछ ही समय शेष है. नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की नौ दिन पूजा-अर्चना की जाती है. मां दुर्गा की असीम कृपा पाने के लिए भक्त नौ दिन तक उपवास भी रखते हैं. यूं तो साल में चार नवरात्रि आते हैं. चैत्र और शारदीय नवरात्रि के अलावा दो गुप्त नवरात्रि माघ और आषाढ़ नवरात्रि भी आते हैं. हिन्दू पंचांग के अनुसार चैत्र की नवरात्रि शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से शुरू होती है. इस साल चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल 2021 को शुरू हो रही है और 9 दिन तक चलेगी यानी 22 अप्रैल 2021 को इसका समापन होगा.

जानिए इस बार क्या होगी मां दुर्गा की सवारी

इस बार नवरात्रि की शुरुआत मंगलवार के दिन हो रही है. इसलिए मां की सवारी घोड़ा मानी जाएगी. शास्त्रों में मां दुर्गा का अश्व पर आना गंभीर माना जाता है. देवी भागवत पुराण के अनुसार नवरात्रि पर मां दुर्गा जब घोड़े की सवारी करते हुए आती हैं तो इसका गंभीर असर देश, सत्ता, प्रकृति आदि पर देखने को मिलते हैं. इसके प्रभाव से युद्ध, आंधी-तूफान जैसी प्राकृतिक आपदाएं, सत्ता में उथल-पुथल होने की संभावनाएं काफी ज्यादा रहती हैं.

जानिए घटस्थापना का मुहूर्त-

दिन- मंगलवार

तिथि- 13 अप्रैल 2021

शुभ मुहूर्त- सुबह 05 बजकर 28 मिनट से सुबह 10 बजकर 14 मिनट तक

अवधि- 04 घंटे 15 मिनट

जानिए घट स्थापना पूजा विधि-

  • चैत्र नवरात्र की प्रतिपदा तिथि को सुबह स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें
  • फिर पाद्य, लाल वस्त्र, अक्षत, पुष्प, धूप, दीपक, नैवेद्य, पुष्पांजलि आदि के माध्यम से देवी के स्‍थान को सुसज्जित करें
  • फिर गणपति और मातृका की पूजा भी करके घट या कलश स्थापना करें.
  • अब नौ देवियों की आकृति बनाने के लिए लकड़ी के पटरे पर पानी में गेरू घोलें
  • इसके अलावा सिंह वाहिनी दुर्गा की प्रतिमा भी स्थापित कर सकते हैं
  • फिर एक कलावा लपेटें और गणेश स्वरूप में कलश पर उसे विराजमान करें.
  • घट के पास गेहूं या जौ का पात्र रखें
  • अब वरुण पूजन और मां भगवती का विधि-विधान से आह्वान करें.

Somvati Amavasya 2021: इस साल 12 अप्रैल को है सोमवती अमावस्या, जानिए महत्व और रखें इन बातों का ध्यान

Chaitra Navratri 2021: नवरात्रि के पहले दिन दुर्लभ योग पर करे घटस्थापना, जाने पूजा का मुहूर्त और शुभ योग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर