नई दिल्ली. 6 अप्रैल से चैत्र नवरात्र आरंभ हो गए हैं. इसे हिंदू मान्यता के अनुसार नया साल माना जाता है. कहा जाता है कि इन दिनों में ही मां दुर्गा ने अपने नौ रूप के दर्शन दिए थे. चैत्र नवरात्र में नौ दिनों तक मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है. विधि विधान पूजा करने से मां दुर्गा प्रसन्न होती है और अपना आशिर्वाद बनाए रखती हैं.

नवरात्रों में अहम होती है मां दुर्गा की पूजा साथ ही एक और अहम चीज होती है घटस्थापना. घटस्थापना यानि कलश स्थापना. मां दुर्गा की मूर्ती के आगे अपने घर के मंदिर में कलश स्थापित करना और नौ दिन तक मां दुर्गा की आराधना करना ही इन नवरात्रों को पूर्ण करता है. नवरात्र में घर में मां दुर्गा के नाम से घट स्थापना या कलश स्थापना की जाती है. ये स्थापना विधि पूर्वक करनी चाहिए.

घटस्थापना मुहूर्त
घटस्थापना शुभ मुहूर्त में ही करना चाहिए. नवरात्र के पहले दिन ये स्थापना करनी चाहिए और नौ दिनों तक इसी की पूजा करनी चाहिए. घटस्थापना चैत्र माह की शुक्ल प्रतिपदा को किया जाता है. इस बार शुभ मुहूर्त शनिवार सुबह 6 बजे से है. इसी के बाद घटस्थापना की जा सकती है.

घटस्थापना कैसे करें
– सुबह स्नान करें.
– घर के मंदिर में मिट्टी की एक चौकी लगाएं.
– चौकी पर मां दुर्गा की मूर्ती रखें.
– मां दुर्गा की मूर्ति के सामने एक कलश रखें.
– कलश में पानी और गंगाजल मिलाकर भरें.
– कलश के ऊपर आम के पत्ते रखें.
– सबसे ऊपर नारियल रखें.
– कलश पर मौली बांधें.
– ऊपर से कलश पर चुनरी लपेटें.

Chaitra Navratri 2019 Ghatasthapana Shubh Muhurat: चैत्र नवरात्र में कैसे करें घट स्थापना? शुभ मुहूर्त और पूजा की सही विधि

Chaitra Navratri 2019 Puja Vidhi: चैत्र नवरात्रि में करें इस दुर्गा सप्तशती मंत्र का जाप, जानें पूजा विधि और मुहूर्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App