नई दिल्ली. भाग्य का रूठ जाना, बुरे दिन ग्रहों की कुदृष्टि एक बीमारी की तरह ही होती है. जिस तरह बीमारी का इलाज किया जाता है उसी तरह आप अपने ऊपर से बुरे दिनों के प्रभावों को हटा सकते हैं. जीवन में कड़ी मेहनत के बाद भी अगर आप लक्ष्य के करीब पहुच कर सफलता नहीं पा पाते हैं तो अक्सर इस नसीब को दुर्भाग्य के रूप में आंका जाता है. अगर आपकी किस्मत आपका साथ दे तो हर काम को आसानी से पूरा किया जा सकता है. ऐसे ही हम आपको कुछ उपाय बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अपने दुर्भाग्य को चमका सकते हैं.

  1. अपनी सफलताओं पर कभी गर्व न करें. अपनी हर उपलब्धि के बाद ईश्वर की कृपा का प्रसाद मानकर सहज भाव से ग्रहण करें.
  2. जरूरतमंद की सहायता करें, भूखे को भोजन और भटके को राह दिखलाना भाग्य चमकाने का सबसे बड़ा टोटका माना जाता है. क्योंकि ऐसा करने पर उनकी दुआएं हमारी प्रगति में परम सहायक सिध्द होती है.
  3. गरीब और कमजोर को कभी सताना नहीं चाहिए. उनको सताने पर उनके मुख से जो निकलती है, वह हमारे सभी पुण्यफलों को क्षीण कर देती है जिसके फलस्वरूप कभी भी भाग्य दुर्भाग्य में बदल सकता है.
  4. सबसे सहयोगपूर्ण और ईमानदारी का व्यवहार रखें यह भाग्य चमकाने का सबसे बड़ा और गूढ़ रहस्य माना जाता है. धूर्त और बेईमान का भाग्य कभी साथ नहीं देता.
  5. रोज सुबह पीपल के पेड़ पर एक लोटा जल चढ़ाएं. शास्त्रों के अनुसार पीपल के पेड़ में भगवान विष्णु का वास होता है. रोज ऐसा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है.
  6. घर को स्वच्छ रखें रोज सुबह झाड़ू-पोछा करें. शाम के समय घर में झाड़ू-पोछा न करें. ऐसा करने से मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं और धन हानि का सामना करना पड़ सकता है.

Nirjala Ekadashi Vrat 2019: 13 जून को होगा निर्जला एकादशी व्रत, इन बातों का रखें खास ध्यान

Vat Savitri Vrat 2019: 3 जून को रखा जाएगा वट सावित्री व्रत, जानें क्यों खास है और क्या मिलता है इस व्रत से लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App