नई दिल्ली. गुरुवार के दिन विष्णु जी की पूजा का विधान है. भक्त से प्रसन्न होकर विष्णु भगवान सभी संकटों को दूर कर देते हैं. गुरुवार को काफी लोग केले के पेड़ की पूजा भी करते हैं. दरअसल हिंदू धर्म में केले के पेड़ को कफी ज्यादा पवित्र माना गया है. इसलिए किसी भी मांगलिक कार्य को पूरा करने के लिए केले के पेड़ का प्रयोग किया जाता है. रीति रिवाजों के मुताबिक, केले के पेड़ का इस्तेमाल शादी के मंडप में भी होता है. कई जगहों में पूजा सामग्री भी केले के पेड़ के पत्ते पर दी जाती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि केले के पेड़ की पूजा क्यों की जाती है.

हिंदू धर्म में क्यों की जाती है केले के पेड़ की पूजा
सनातन धर्म में सप्ताह के हर एक दिन अलग-अगल देवी-देवताओं की पूजा का विधान कहा गया है. ऐसे ही गुरुवार को विष्णु जी को पूजा जाता है. माना जाता है कि विष्णु जी को केले के पौधे से काफी प्रेम है. इसी पौधे में भगवान विष्णु का वास बताया जाता है. कहा जाता है कि अगर विष्णु जी के प्रिय केले के पेड़ की गुरुवार को पूजा की जाए तो व्यक्ति के जीवन की सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं और जीवन में सुख-शांति का वास होता है.

मान्यता है कि अगर केले के पेड़ की पूजा हर गुरुवार को की जाए तो विष्णु भगवान प्रसन्न होते हैं. गुरुवार के दिन केले के पेड़ की पूजा करने वाले व्यक्ति के जीवन में कभी भी आर्थिक तंगी नहीं आती है. साथ ही केले के पेड़ के पूजन करने वाले व्यक्ति की इनकम का जरिया बढ़ जाता है. दूसरी ओर माता लक्ष्मी भी गुरुवार के दिन केले के पेड़ की पूजा से प्रसन्न होती हैं. गुरुवार को केले के पेड़ की पूजा लिए उसपर दाल, गुड़ और हल्दी की गांठ अर्पित करें, सब सुख होगा.

Jitiya Vrat 2019 Date: जानें कब है जीवित्पुत्रिका व्रत, शुभ मुहूर्त और व्रत कथा

Navratri Colors 2019: नवरात्रि के नौ दिन जानें कौन सा रंग आपके लिए शुभ, ऐसे करें मां दुर्गा को प्रसन्न