नई दिल्ली. हिंदू धर्म में केले के पेड़ की काफी ज्यादा मान्यताए हैं. किसी भी मांगलिक कार्य को करते समय केले के पेड़ का कई तरीकों से इस्तेमाल भी किया जाता है. रीति रिवाजों के अनुसार, केले के पेड़ का इस्तेमाल शादी के मंडप में भी किया जाता है. वहीं काफी संख्या में लोग गुरुवार को केले के पेड़ का पूजन भी करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि केले के पेड़ की पूजा क्यों की जाती है? और गुरुवार को केले की पेड़ के पूजन के पीछे का कारण.

हिंदू धर्म के मुताबिक, पूरे सप्ताह में हर एक दिन अलग-अलग देवी-देवताओं की पूजा अराधना की जाती है. गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की पूजा का विधान है. मान्यता है कि विष्णु जी की कृपा जिसके ऊपर बरसती है उसके जीवन के सभी संकट दूर भाग जाते हैं. कहा गया है कि विष्णु जी को केले का पौधा काफी अधिक प्रिय है, ऐसा माना जाता है कि इसी पौधे में विष्णु वास भी है. इसी वजह से गुरुवार के दिन भगवान विष्णु के सबसे प्रिय केले के पेड़ की पूजा की जाती है.

माना जाता है कि गुरुवार को केले के पेड़ की पूजा करने से विष्णु जी खुश होते हैं. गुरुवार के दिन केले के पेड़ को पूजने से व्यक्ति के जीवन से धन की तंगी दूर भाग जाती है. इसके साथ ही उस व्यक्ति की आय में बढ़ोतरी होती है, कमाने का जरिया बढ़ता है. और अगर बेरोजगार है तो उसे रोजगार मिलता है. वहीं मां लक्ष्मी भी केले के पेड़ के पूजन से बहुत खुश होती हैं. बताया गया है कि गुरुवार के दिन गुड़, दाल और हल्दी की गांठ केले के पेड़ पर जरूर चढ़ाएं.

Guruvar ke Totke: गुरुवार के इन टोटकों से खुलेगा बंद किस्मत का ताला, कुंवारों की जल्द हो जाएगी शादी

Love Rashifal 2019: 2019 में इन राशियों की लव लाइफ हो जाएगी रोमांटिक, मिलेगा पार्टनर का साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App