नई दिल्ली. मंगलवार 13 फरवरी यानी आज रथ (अचला) सप्तमी मनाई जा रही है. माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी के दिन अचला सप्तमी मानई जाती है. इस दिन सूर्य भगवान की पूजा को काफी शुभ माना गया है. हिंदू धर्म के अनुसार,सूर्य की किरणें पहली बार धरती पर अचला सप्तमी के दिन पड़ी थी. माघ महीने की सप्तमी को सूर्य सप्तमी, सूर्य रथ सप्तमी, माघी सप्तमी आदि कई नामों से जाना जाता है. जानिए इस दिन पूजा करने से क्या लाभ होगा. साथ ही जानिए इसकी पूजा विधि.

कब है अचला सप्तमी

पंचाग के अनुसार, इस साल अचला सप्तमी मंगलवार, 12 फरवरी को पड़ रही है. 

सूर्य देवता की आराधना के ये होंगे लाभ –

अचला सप्तमी के दिन सूर्य देवता की आराधना करने से कई लाभ मिलते हैं. मान्यता है कि इस पूजा करने से स्वास्थ्य ठीक रहता है. इसके साथ ही पुत्र और धन की प्राप्ति होती है. इस व्रत को करने से शरीर की कमजोरी, जोड़ों के दर्द जैसे रोगों से आराम मिलता है.

अचला सप्तमी की पूजा विधि-

  1. इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर सभी दैनिक काम पूरे कर स्नान कर लें.
  2. स्नान के बाद सूर्य भगवान जल चढ़ाए और दान करना भी शुभ माना जाता है.
  3. सूर्य भगवान की आराधना करने के बाद इस दिन एक ही वक्त मीठा भोजन या फलाहार ही करें.
  4. अचला सप्तमी के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. माना जाता है कि ऐसा करने से सूर्य देवता प्रसन्न होते हैं.
  5. इस दिन शुद्ध घी का दीया जलाकर लाल फुलों से सूर्य देवता की आराधना करें.
  6. सूर्य मंत्र – ‘ॐ घृणि सूर्याय नम: तथा ॐ सूर्याय नम:’ का जाप करें. आप चाहे तो दिन भर इस मंत्र का जाप कर सकते हैं.
  7. इस दिन गरीबों को दान देना अत्यंत शुभ माना जाता है.

Lord Hanuman Tuesday Tips: मंगलवार के इन उपायों से दूर होगी पैसों की किल्लत, बरसेगी हनुमान जी की कृपा

Magh Gupt Navratri 2019 Date: माघ गुप्त नवरात्रि 2019 तिथि, पूजा शुभ मुहूर्त और नवदुर्गा के स्वरुप के बारे में जानिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App