नई दिल्ली: अक्सर लोग बिना कुछ सोचे-समझे कुछ भी गलत बोल देते हैं. ऐसे में उन बातों से होने वाले गलत प्रभाव को हम कभी नहीं समझ सकते हैं. दरअसल, कुंडली का दूसरा, तीसरा और आठवां भाव वाणी से सम्बन्ध रखता है. माना जाता है कि इन भावों में अशुभ ग्रह होने से आपकी वाणी पहले से खराब हो जाती है. राहु और मंगल वाणी को सबसे ज्यादा दुषित करते हैं. वहीं शनी के प्रभाव से व्यक्ति को अपशब्द बोलने की आदत हो जाती है. इसके साथ ही बुध के दूषित होने पर भी व्यक्ति अपशब्द बोलने लग जाता है. आज हम आपको बता रहे हैं अपशब्द बोलने के गंभीर परिणाम.

गौरतलब है कि आपकी आर्थिक स्थिति पर अपशब्द बोलने से सीधा असर पड़ता है. व्यक्ति के जीवन में कई तरह के उतार-चढ़ाव बने रहते है. वहीं कहा जाता है कि ज्यादा अपशब्द या गलत तरह की वाणी बोलने वाले व्यक्ति को गले या मुंह की बीमारी की संभावनाएं रहती है. इन लोगों का बुध कमजोर रहता है. वहीं बताया जाता है कि इस तरह के लोगों की याददाश्त और बुद्धी की समस्या भी निश्चित होती है. इस तरह की वाणी वाले लोग जानबूझकर आफत को अपने पास बुला लेते हैं.

अपशब्द बोलने की आदत को ठीक भी किया जा सकता है. इसके लिए आप हर सुबह उठकर सूर्य को अर्घ्य दें. इसके बाद गायत्री मंत्र का जाप करें. वहीं सुबह उठकर तुलसी के पत्ते जरूर खाएं. इसके अलावा अपने खान-पान को शुद्ध रखें. भोजन में दूध से बनी चीजों की मात्रा का ज्यादा सेवन करें. सलाह लेकर एक लेब्राडोराइट धारण करें. अगर हरे रंग का इस्तेमाल करेंगे तो लाभ होगा.

अगर बढ़ते मोटापे से हैं परेशान तो अजवायन करेगा चमत्कारी कमाल

आर्थिक तंगी से हैं अगर परेशान तो ये 3 चीजें करेंगी आपको मालामाल

चंद्र दोष को करना चाहते हैं दूर तो करें इन चीजों को दान करना होगा असरदार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App