नई दिल्ली. छठ पूजा महोत्सव आज यानि 24 अक्टूबर से शुरू हो गया है. इस त्योहार के दौरान पूरी श्रद्धा-भक्ति से लोग छठी मैया की पूजा करते हैं. छठ का त्योहार साल भर में दो बार मनाया जाता है. छठ का व्रत रखने वाली महिलाओं को परवैतिन कहा जाता है. छठ करने वाले लगातार 36 घंटों तक उपवास रखते हैं. ये व्रत एकलौता ऐसा व्रत है जिसे महापर्व की संज्ञा दी गयी है. दिवाली के 6 दिन बाद मनााये जाने वाला ये त्योहार चार चरणों में संपन्न होता है. छठ पूजा का पहला चरण होता है नहाय खाय. 
 
छठ पूजा नहाय खाय पूजा विथि
कार्तिक शुक्ल की चतुर्थी को नहाय-खाय होता है. इस दिन पूरे घर की साफ सफाई कर छठ वर्ती स्नान करते हैं. स्नान के लिए व्रती नदी तालाब, कुंआ, नहर पर जाकर स्नान करते है और साफ सुथरे कपड़े पहनती हैं. खाने में शुद्ध अरवा चावल, चने की दाल, लौकी की सब्जी और कद्दू ग्रहण करते हैं. इसी दिन से व्रती बिस्तर पर सोना त्याग देते हैं और व्रत संपन्न होने तक बिस्तर पर नहीं सोते हैं. इन चार दिन तक व्रती के घर के सभी सदस्यों को शराब, मांस और अंडा का सेवन नहीं करना है.
 
 
इसके बाद 25 तारीख को खरना किया जाएगा. इस दौरान लोगों गुड़ की खीर बनाते हैं. इस चरण में लोग खाना त्याग देते हैं. फिर अगले दिन से यानि 26 तारीख को सांझ को अर्ध्य दिया जाएगा. इस दिन घरों में छठी मैया के भोग का प्रसाद बनाया जाता है. इस दिन ठेकुआ, कष्ठा, माल पुआ, चावल के लड्डू आदि पारंपरिक पकवान बनाएं जाते हैं.  इस पूजा का अंतिम चरण होता है भोर का अर्घ्य. इस दिन सूर्य देव और छठी मइया को अर्घ्य देते हैं.  और प्रसाद अर्पित करते हैं. 
 
 
छठ पूजा नहाय खाय शुभ मुहूर्त 
नहाय खाय 24 अक्टूबर- सुबह 7 बजे से शुरू
नहाय खाय 24 अक्टूबर- 2.30 बजे तक 
 
छठ पूजा 2017 कैलेंडर
कार्तिक शुक्ल पक्ष की छठ पूजा के पहले दिन खरना लोहंडा मुहूर्त और तारीख- 25 अक्टूबर 2017, सूर्योदय 6.28 मिनट, सूर्य अस्त- 5.42 मिनट
कार्तिक शुक्ल पक्ष की छठ पूजा के तीसरे दिन सांझ या शाम का अर्घ्य मुहूर्त और तारीख- 26 अक्टूबर 2017, सूर्योदय 6.29 मिनट, सूर्य अस्त- 5.41 मिनट
कार्तिक शुक्ल पक्ष की छठ पूजा के चौथे दिन भोर या ऊषा, सुबह का अर्घ्य मुहूर्त और तारीख- 27 अक्टूबर 2017, सूर्योदय 6.29 मिनट, सूर्य अस्त- 5.40 मिनट
 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App