नई दिल्ली. आखिर सुहागिनों के लिए वो पवित्र दिन आ ही गया. सुहाग के लिए इस पवित्र दिन पर महिलाएं अपने पति और घर-परिवार की मंगलकामना के लिए आज हरतालिका तीज मनांएगी. इस दिन सुहागिन महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं. महिलाएं और युवतियां गौरी-शंकर का पूजन करती हैं. हिन्दी तिथि के हिसाब से ये व्रत भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को रखा जाता है. हरतालिका तीज के खास अवसर पर अपने पति और अपने बीच में प्रेम करने के लिए भी कई मायनों में खास हैं. यहां जानें तीज से जुड़ी कुछ अहम बातें जो पति-पत्नी के प्यार को बढ़ांएगी.
 
 
ये दिन पति- पत्नी के लिए खास होता है. अगर इस व्रत को पूरी श्रद्धा और भक्ति के साथ किया जाए तो ये व्रत आपकी शादीशुदा जिंदगी को खुशियों से भर देता है. इस व्रत पर भगवान शिव और पार्वती को खुश किया जाता है. इसके लिए आपको हरतालिका तीज पर चावल की खीर बनाकर भगवान शिव और मां पार्वती को भोग लगाए. इसके बाद पति-पत्नी बैठकर ये खीर खाएं.
 
हरतालिका तीज 2017 : ये है सुहागिनों के पर्व का महत्व, जानिए कथा और पूजन विधि
 
इस दिन पति-पत्नी आपसी प्रेम बढ़ाने के लिए सुबह जल्दी उठकर स्नान कर शिव-पार्वती के मंदिर जाएं। मंदिर में भगवान को लाल गुलाब के फूल अर्पित करें.
 
हरतालिका तीज के दिन आप 11 या 21 नववधुओं को सुहाग की सामग्री भेंट करें. जैसे बिंदी, चूड़ी, काजल आदि. शुभ मुहूर्त को देखकर अपनी पूजा संपन्न करें.