जयपुर. देश के पहले और इकलौते गाय मंत्री ओटाराम देवासी राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में हार गए हैं. राजस्थान में ओटाराम देवासी पहले ऐसे नेता थे जिन्हें गाय कल्याण के लिए नियुक्त किया गया था. ओटाराम देवासी गाय प्रेम को वोट में नहीं बदल पाए. ओटाराम देवासी राजस्थान की सिरोही सीट से भाजपा से खड़े हुए थे. वो निर्दलीय खड़े हुए कांग्रेस के बागी नेता संयम लोढ़ा से हार गए हैं. ओटाराम देवासी इस सीट से तीसरी बार चुनाव लड़े थे.

पिछली सरकार ने साल 2014 में गाय कल्याण विभाग बनाया था. इस विभाग में ओटाराम देवासी को मंत्री बनाया गया. इसके तहत शराब पर 20 प्रतिशत गाय कर भी लगाया गया, जो आवारा घूमती गाय को रहने की जगह देने के लिए इस्तेमाल किया जाना था. लेकिन इनमें से कुछ भी देवासी की जीत में मददगार साबित नहीं हुआ. देवासी ने अपनी हार पर बयान देते हुए कहा, ‘ये आम जनता का आदेश है और मुझे केवल इतनी ही उम्मीद है कि अगली नई सरकार भी गाय कल्याण के लिए काम करेगी. हमने लगभग 450 करोड़ रुपए गाय कल्याण पर खर्च किए हैं और अगली सरकार के पास गाय कर की वजह से बहुत सा फंड होगा.’

बता दें कि 2008 में ओटाराम देवासी ने सिरोही से चुनाव लड़ा. 2013 में वो सिरोही से ही जीते. इस बार इसी सीट से चुनाव लड़कर वो 10 हजार वोटों से हार गए हैं. उनकी हार का कारण बताया जा रहा है कि गाय मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान बारिश के कारण गऊशाला में बाढ़ जैसे हालात हो गए. भूख और बीमारी से सैंकड़ों गाय की मौत हुई. इसी के बाद उनकी छवि खराब हुई जिससे उन्हें इस बार जनता ने सत्ता से हटा दिया.

Rajasthan Assembly Election Results 2018 Vote Seat Share Data Analysis: राजस्थान में नोटा के सोंटा से बीजेपी 7 सीट तो कांग्रेस 13 सीट हारी, वसुंधरा तो फिर भी जातीं पर गहलोत या पायलट के पास बहुमत होता

Rajasthan Government CM Swearing-In LIVE update: मुख्यमंत्री बनने पर अड़े अशोक गहलोत और सचिन पायलट, विवाद के बीच राहुल गांधी ने दोनों को दिल्ली बुलाया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App