राजस्थान: राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 से कांग्रेस ने बड़ी आस लगाई है कि इस बार वो सत्ता में वापसी कर लेंगे. इसके लिए कांग्रेस किसी भी तरह का जोखिम न उठाते हुए रणनीति बनाकर काम कर रही है. कांग्रेस ने रणनीति बनाई और भाजपा के बाद अपने प्रत्याशियों का नाम और घोषणा पत्र जारी किया. मंगलवार को भाजपा ने विधानसभा चुनाव के लिए राजस्थान में अपना घोषणा पत्र जारी किया वहीं कांग्रेस ने भाजपा के बाद गुरुवार सुबह घोषणा पत्र जारी किया.

भाजपा के घोषणा पत्र को कांग्रेस ने निराशाजनक बताया. घोषणा पत्र गुरुवार सुबह 9 बजे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष हरीश चौधरी और कांग्रेस राज्य अध्यक्ष सचिन पायलेट समेत सभी बड़े नेताओं जारी किया.

घोषणा पत्र में कांग्रेस ने किए ये बड़े वादे

किसानों के लिए

-बुजुर्ग किसानों को घर बैठे पेंशन दी जाएगी.
-किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा.
-कृषि उपकरणों को जीएसटी से बाहर रखा जाएगा.
-असंगठित मजदूरों और किसानों के लिए कल्याण बोर्ड बनाया जाएगा.
-किसानों और युवाओं के लिए अलग से आयोग बनाया जाएगा.

रोजगार के लिए

-बेरोजगार युवाओं का बेरोजगारी भत्ता साढ़े तीन हजार रुपए महीना रखा जाएगा.
-रोजगार के लिए कम दर पर कर्ज दिया जाएगा.
-परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक की मुफ्ता यात्रा सुविधा दी जाएगी.
-लड़कियों को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी.

ये वादे भी किए

-गोचर भूमि बोर्ड बनाने का प्रावधान दिया जाएगा.
-राईट टू हेल्थ कानून के तहत हर व्यक्ति को मुफ्त में स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी.
-पत्रकारों के लिए जर्नलिस्ट प्रोटेक्शन एक्ट बनाया जाएगा.

Rajasthan Elections 2018 Congress Manifesto: राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र

Tonk constituency Rajasthan Vidhan Sabha Election 2018: राजस्थान की टोंक विधानसभा सीट पर कांग्रेस के सचिन पायलट से बीजेपी के यूनुस खान की टक्कर, 2013 में ऐसे थे समीकरण

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर