उदयपुर. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को राजस्थान के उदयपुर में कारोबारी समुदाय और पेशेवरों से मुलाकात की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी नीतियों पर तंज कसते हुए राहुल ने कहा, ”आयुष्मान भारत के साथ समस्या है कि सरकार ने लोगों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया करा दी, लेकिन इस सुविधा का फायदा लेने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के अस्पताल ही नहीं हैं. सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के मेडिकल केंद्रों और शिक्षा संस्थानों को को पर्याप्त फंड ही नहीं दिया.”

उन्होंने कहा, आईआईटी और आईआईएम के पीछे हमारा लक्ष्य पैसा कमाना नहीं बल्कि सेवा था. हम खुद को सुपरपावर नहीं कह सकते, जब तक हम कम कीमत में स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा मुहैया न करा पाएं. राहुल ने आगे कहा, ”यह कहना मिथ्या है कि प्राइवेट शिक्षा संस्थान बेहतर होते हैं. हमारी सोच इस बात पर साफ है कि हम देश को बिना सरकारी स्वास्थ्य और शिक्षा केंद्रों के नहीं चला सकते.”

पिछले दिनों गोत्र पर मचे हंगामे पर चुप्पी तोड़ते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, हिंदू धर्म का सार क्या है, यह मेरे लिए बड़ा आकर्षण है. आपको हिंदू धर्म के बारे में पढ़ना चाहिए. गीता क्या कहती है? वह कहती है कि ज्ञान सबके पास है. हर ओर है. लेकिन नरेंद्र मोदी कहते हैं कि मैं हिंदू हूं, मगर उन्हें हिंदू धर्म की नींव के बारे में मालूम नहीं है. कैसे हिंदू हैं वो? यह विरोधाभास है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा , ”पीएम नरेंद्र मोदी की तरह मनमोहन सिंह ने भी तीन बार सर्जिकल स्ट्राइक की है. जब आर्मी मनमोहन सिंह के पास आई और कहा कि हमें पाकिस्तान को उसके किए का जवाब देने की जरूरत है. उन्होंने यह भी कहा कि वे इसको खुद के लिए गोपनीय रखना चाहते हैं.” लेकिन नरेंद्र मोदी आर्मी के डोमेन में पहुंचे और सर्जिकल स्ट्राइक को एक आकार दिया. उन्होंने इसे राजनीतिक संपत्ति बना दिया, जो असल में सेना का फैसला था. राहुल ने आगे कहा, आर्मी को यह अच्छा लगता कि हमने यह किया, यह फायदेमंद है, अगर किसी को पता न चले. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह मंजूर नहीं था. यूपी में चुनाव था और वह हार रहे थे. इसलिए उन्होंने सेना की संपत्ति को राजनीतिक संपत्ति में तब्दील कर दिया.

Navjot Singh Sidhu in Telangana Election: नवजोत सिंह सिद्धू ने हैदराबाद में भरी हुंकार, कहा ; बुरे दिन खत्म होने वाले है, राहुल गांधी आने वाले हैं

Rajasthan Assembly Elections: राजस्थान के नागौर में गरजे अमित शाह, बोले- विजय माल्या और निरव मोदी की थी राहुल गांधी की कांग्रेस से पार्टनरशिप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App