जयपुर. राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को मतदान किया गया. चुनावी मैदान में उतरे 2290 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला अब 11 दिसंबर को नतीजे आने के बाद होगा. लेकिन इस बीच नेशनल हाईवे 27 पर सीलबंद ईवीएम मिलने से सनसनी फैल गई. चुनाव आयोग ने इस मामले पर सख्ती दिखाते हुए दो अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है. ईवीएम राजस्थान के बरन जिले के किशनगढ़ विधानसभा क्षेत्र के शाहबाद इलाके में मिली. वोटिंग के बाद उसे सील कर दिया गया था, लेकिन इसके साथ छेड़छाड़ की कोई खबर नहीं है.

सूचना मिलते ही शाहबादके थाना अफसर नारायण राम मौके पर पहुंचे और ईवीएम को कब्जे में ले लिया. वोटिंग के वक्त भी राजस्थान के पाली, बीकानेर, झालावाड़ और नागौर जिलों में ईवीएम से छेड़छाड़ की खबरें सामने आई थीं. चुनाव आयोग ने पाली विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अफसर महावीर का तबादला कर दिया है और उनकी जगह जोधपुर के राकेश को पाली का रिटर्निंग अफसर का चार्ज दिया गया है.

विधानसभा चुनाव के मतदान के दौरान फतेहपुर विधानसभा सीट के 4 पोलिंग बूथ पर कांग्रेस और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच जमकर हिंसा, पत्थरबाजी और आगजनी हुई थी. दोनों पार्टियों के समर्थकों ने दो बाइक को आग लगा दी और उस बस के शीशे भी तोड़ दिए, जो पोलिंग पार्टी के साथ आई थी. दोनों पार्टियों के समर्थक उस अफवाह के बाद भिड़ गए, जिसमें कहा गया कि इन बूथों पर फर्जी मतदान हो रहा है. गौरतलब है कि शुक्रवार शाम आए एग्जिट पोल के नतीजों में बीजेपी को बड़ा झटका लगा.

आंकड़ों के मुताबिक इस बार राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनती दिखाई दे रही है. इंडिया न्यूज-नेता के एग्जिट पोल के मुताबिक कांग्रेस को इस बार 112 सीट मिल सकती हैं. वहीं बीजेपी को 80 सीट मिलने के आसार हैं. बाकी 7 सीट अन्य को मिल सकती हैं. राजस्थान में इस बार बीजेपी का वोट प्रतिशत भी गिरकर 38 फीसदी हो सकता है. वहीं कांग्रेस का वोट प्रतिशत 44 फीसदी तक हो सकता है.

Rajasthan Election Exit Poll 2018: राजस्थान में इंडिया न्यूज-Neta एग्जिट पोल, 112 सीटों के साथ कांग्रेस को पूर्ण बहुमत, 80 सीट पर सिमट सकती है बीजेपी

Rajasthan Election Exit Poll 2018 Results: राजस्थान पोल ऑफ पोल्स में बीजेपी बड़ी हार की तरफ, कांग्रेस के सिर सजेगा जीत का सेहरा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App