नई दिल्ली: सन् 90 के दशक में एक क्राइम शो के जरिए देश भर में अपनी पहचान बनाने वाले टेलीविजन एंकर सुहैब इलियासी को अदालत ने उम्रकैद की सजा सुना दी है. पत्नी की हत्या को अंजाम देने वाला दोषी सुहैब अदालत में जज साहब से बार-बार मिन्नतें करता रहा. इस
दोषी का कहना है कि वह निर्दोष है… निर्दोष है. सुहैब इलायासी का कहना है कि उसकी पत्नी अंजू ने आत्महत्या की थी, वह कातिल नहीं है. अदालत ने तमाम सबूत और जांच रिपोर्ट को देखते हुए देश के इस हाइप्रोफाइल मर्डर मिस्ट्री में सुहैब इलियासी को हत्या का दोषी माना है.
अदालत के फैसले का बाद अब सुहैब इलियासी की पूरी जिंदगी जेल की सलाखों के पीछे कटेगी. कोर्ट के फैसला आने के बाद उसने कहा कि वह हाईकोर्ट में निचली अदालत के फैसले को चुनौती देगा.

सुहैब इलियासी एक टीवी एंकर है जिसने क्राइम के खबरों की दुनिया ही बदल कर रख दी थी. सुहैब इलियासी जिसके बोलने के अंदाज, खबर को परोसने के अंदाज का हर कोई मुरीद था. 90 के दशक के आखिरी साल में इलियासी के टेलीविजन शो इंडियाज मोस्ट वॉटेड लोकप्रियता की रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना रहा था.

सुहैब इलिसायी अपने ही बुने जाल में फंस गया, वो बार-बार झूठ पर झूठ बोलता रहा. वह अपने ऊंचे रसूखों के बूते पुलिस को गुमराह करता रहा लेकिन आखिरकार उसके गुनाह का पर्दाफाश हो ही गया.  इस मामले में चार ऐसी बात थीं जो सुहैब इलियासी के खिलाफ गई थी. पहली बात जिस दिन अंजू की हत्या हुई उसी दिन उसने अपनी छोटी बहन को फोन करके कहा था कि मेरी जान को खतरा है. दूसरी बात – अंजू हमेशा एक डायरी लिखा करती थी. अपनी हत्या के कुछ दिनों पहले उसने अपनी डायरी में लिखा.

वीडियो में देखें पूरा शो…