Saturday, February 4, 2023

TMC के दावों पर विपक्ष: उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए सोनिया गांधी ने की थी बात, शरद पवार ने किया इंतजार !

नई दिल्ली, उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष की साझा उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा के चुने जाने पर ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने नाराजगी जताई है और वोटिंग से दूर रहने का ऐलान कर दिया है. टीएमसी का कहना है कि उम्मीदवार को चुनने से पहले उनसे नहीं पूछा गया, इस बीच विपक्षी नेताओं ने उनके दावे को गलत ठहराते हुए कहा कि मार्गरेट अल्वा का नाम तय करने से तीन दिन पहले ही ममता से बात हो गई थी. इन नेताओं का कहना है कि खुद सोनिया गांधी ने ममता बनर्जी से इस विषय पर बात की थी और फोन पर ममता बनर्जी ने कहा था कि विपक्ष की ओर से जिसे भी चुना जाएगा, वह उस पर सहमत होंगी.

सोनिया ने किया था ममता से संपर्क

एक वरिष्ठ विपक्षी नेता ने कहा कि, ‘सोनिया गांधी ने 15 जुलाई को दोपहर ढाई बजे ममता बनर्जी से फोन पर बात की थी, इस दौरान उन्होंने उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर बात की थी और तब उन्होंने कहा था कि मेरे दिमाग में उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर किसी का नाम नहीं है. ऐसे में संयुक्त विपक्ष जिसके नाम पर भी फैसला लेता है, वह उस पर सहमत होंगी.’ एनडीए की ओर से 16 जुलाई को जगदीप धनखड़ के नाम का ऐलान किया गया था और उसी दिन रात को 8:30 बजे सोनिया गांधी ने ममता बनर्जी को मेसेज भेजा था, लेकिन ममता ने उनका कोई जवाब नहीं दिया था.

पवार करते रहे ममता के फोन का इंतज़ार

इसके बाद 18 जुलाई को शरद पवार के घर पर विपक्षी दलों की एक बैठक हुई थी, जिसमें शिवसेना और टीआरएस के नेता मौजूद थे, इस बैठक में तृणमूल कांग्रेस की ओर से कोई नहीं पहुंचा था. बैठक में मौजूद रहे एक नेता ने कहा, ‘ममता बनर्जी से शरद पवार ने बात करने की कोशिश की थी, लेकिन उनके ऑफिस से जवाब आया कि वो किसी मीटिंग में व्यस्त हैं. विपक्ष के नेताओं ने उनका करीब आधे घंटे तक इंतजार किया और उनसे बात करने की कोशिश की, लेकिन ममता से कोई संपर्क न हो सका.’ बता दें कि गुरुवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटों की गिनती के दौरान टीएमसी के नेता अभिषेक बनर्जी ने कहा था कि उपराष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग में टीएमसी हिस्सा नहीं लेगी.

 

Har Ghar Tiranga Campaign: 13-15 अगस्त तक अपने घरों में फहराएं तिरंगा- पीएम मोदी ने की लोगों से अपील

Latest news