Thursday, December 8, 2022

एमसीडी चुनाव 2022 नतीजे

एमसीडी चुनाव  (250 / 250)  
BJP - 104
CONG - 09
AAP - 134
OTH - 03

लेटेस्ट न्यूज़

Time मैगज़ीन के पर्सन ऑफ द ईयर बने यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की

0
नई दिल्ली : यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की को विश्व प्रसिद्ध पत्रिका टाइम ने पर्सन ऑफ द ईयर 2022 बनाया है. बता दें, हर साल...

उत्तराखंड : कोर्ट ने Facebook पर लगाया 50 हजार का जुर्माना, जानिए पूरा मामला

0
नैनीताल : बुधवार (7 दिसंबर) को नैनीताल हाईकोर्ट ने फेसबुक पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है. ये जुर्माना सही समय पर जवाब दाखिल...

हैदराबाद : देह व्यापर में धकेली जा रही थीं 14 हज़ार लड़कियां, ऐसे पकड़ा...

0
Hyderabad: हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस को देह-व्यापर के गोरकधंधे में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पुलिस ने वेश्यावृत्ति का राजफास करते हुए 17...

एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच दशहरे पर छिड़ेगी महाभारत, मैदान को लेकर हुई भिड़ंत

मुंबई. दशहरे पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बीच जंग देखने को मिल सकती है. दरअसल, एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच पहले ही शिवसेना को लेकर वर्चस्व की जंग चल रही है, इसी बीच अब दशहरा रैली को लेकर दोनों के बीच भिड़ंत हो सकती है.

मुंबई नगर निकाय के मुताबिक, दशहरा रैली के लिए शिवाजी पार्क की बुकिंग के लिए उद्धव ठाकरे और सीएम एकनाथ शिंदे दोनों समूहों की तरफ से आवेदन किए गए हैं, अब दशहरा रैली शिवसेना के लिए हमेशा से ही महत्वपूर्ण रही है, क्योंकि बालासाहेब ठाकरे के दौर से ही इस पार्क में हर साल दशहरा रैली होती आई है और शिवसेना ही इसे करती है. इस रैली में प्रदेश भर के शिवसैनिकों का जमावड़ा होता है. ऐसे में दशहरा रैली के लिए शिवाजी पार्क की बुकिंग करके एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे गुट के बीच शक्ति प्रदर्शन देखने को मिल सकता है क्योंकि दोनों ही तरफ से आवेदन किए गए हैं.

शिवाजी पार्क को लेकर हुई भिड़ंत

मुंबई के नगर निकाय ने शुक्रवार को ये बताया कि अक्टूबर की दशहरा रैली के लिए एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे दोनों ही गुट की ओर से आवेदन किए गए हैं, ऐसे में अब शिवजी पार्क में किसकी दशहरा रैली होगी ये तो आने वाले वक्त में ही पता चलेगा. दरअसल, ये रैली हमेशा से ही शिवसेना की विरासत रही है, यह सिलसिला बालासाहेब द्वारा शुरू किया गया था और अब उद्धव ठाकरे इसे आगे बढ़ा रहे हैं. लेकिन, जून में एकनाथ शिंदे के विद्रोह के बाद सेना में विभाजन के कारण शिवसेना तो खेमों में बंट गई है और दोनों ही तरह शिवसैनिक ही हैं. दोनों का ही कहना है कि वो बालासाहेब के सच्चे शिवसैनिक हैं. अब शिंदे महाराष्ट्र के मुखिया हैं और प्रदेश की सत्ता उनके हाथ में है, ऐसे में शिंदे कई मौकों पर खुद को असली शिवसैनिक भी कह चुके हैं.

ऐसे में इस बार दशहरा रैली के लिए शिवाजी पार्क में महाभारत तो तय है. अब रैली के लिए शिंदे और उद्धव दोनों गुटों ने अपनी दावेदारी पेश की है, वहीं नगर निकाय के मुताबिक, पहला आवेदन 22 अगस्त को शिवसेना के ठाकरे गुट से आया था और दूसरा गणेश उत्सव से ठीक पहले शिंदे समूह की तरफ से आया था.’

 

INS Vikrant: भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल हुआ आईएनएस विक्रांत, PM मोदी बोले- देश में पैदा हुआ नया भरोसा

Latest news